पटना: लोकसभा चुनाव से पहले बिहार में बड़े पैमाने पर प्रशासनिक फेरबदल किया गया है. बिहार सरकार ने सोमवार की रात भारतीय पुलिस सेवा के 30 और भारतीय प्रशासनिक सेवा के 19 अधिकारियों के तबादलों की अधिसूचना जारी की है. इसके अलावा बड़ी संख्या में बिहार प्रशासनिक सेवा और बिहार पुलिस सेवा के अधिकारियों का भी स्थानांतरण किया गया है.

PM मोदी ने की जाति के आधार पर भेदभाव खत्‍म करने की अपील, जातिवाद को बढ़ावा देने वालों की हो पहचान

सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी अधिसूचना के मुताबिक, बिहार मानवाधिकार आयोग की सचिव वंदना किनी को भागलपुर के आयुक्त की जिम्मदारी सौंपी गई है जबकि सफीना ए.एन. को कोसी क्षेत्र प्रक्षेत्र से हटाकर पूर्णिया का आयुक्त बनाया गया है.

वीडियो: बेंगलुरु में दो सूर्य किरण प्‍लेन क्रैश, दो पायलट बचे, एक की मौत

इसी तरह नर्मदेश्वर लाल अब तिरहुत प्रमंडल के आयुक्त होंगे, जबकि राजेश कुमार को भागलपुर आयुक्त से स्थानांतरित करते हुए मानवाधिकार आयोग का सचिव बनाया गया है. लोकेश कुमार सिंह को सारण का आयुक्त, असंगबा चुबा आओ को कोसी प्रमंडल के आयुक्त की जिम्मेदारी दी गई है.

इसके अलावा कई जिलों के उप विकास आयुक्त का भी स्थानांतरण किया गया है. पटना, सदर के अनुमंडल पदाधिकारी सुहर्ष भगत को सारण का उपविकास आयुक्त बनाया गया है. सरकार ने भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारियों का भी बड़े पैमाने पर स्थानांतरण किया है.

पंजाब ने पेट्रोल, डीजल पर लागू वैट में की बड़ी कटौती, अब दूसरे राज्‍यों पर बढ़ा दबाव

वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी और पटना यातायात के पुलिस अधीक्षक प्रकाश नाथ मिश्रा को सीआईडी का पुलिस उपमहानिरीक्षक (डीआईजी) बनाया गया है. रवींद्र कुमार को मुजफ्फरपुर का डीआईजी व सीतामढ़ी के पुलिस अधीक्षक रहे सुजीत कुमार को पटना (रेल) पुलिस अधीक्षक की जिम्मेदारी दी गई है.

डी़ अमरकेश को सीतामढ़ी का पुलिस अधीक्षक व दिलनवाज अहमद को कैमूर के पुलिस अधीक्षक की जिम्मेदारी सौंपी गई है. इसके अलावा बड़ी संख्या में बिहार प्रशासनिक सेवा के अधिकारियों का भी स्थानांतरण किया गया है, जिसमें कई अनुमंडल पदाधिकारी भी शामिल हैं.