आज जहां पूरा देश 68वां गणतंत्र दिवस मना रहा है, वहीं ऊपरी असम और नगालैंड सीमा पर करीब 6 धमाकों से पूरा असम दहल गया है। हालांकि इनमें अभी तक किसी के हताहत होने की खबर नहीं आई है। इनमें उल्फा आतंकियों के हाथ होने की आशंका जताई जा रही है।ऊपरी असम के चरायदेवो में दो जगहों पर और पानिजान में एक पेट्रोल पंप पर धमाका हुआ है। उल्फा ने बुधवार को चेतावनी भी दी थी कि वह गणतंत्र दिवस के दिन राज्य में धमाके करेगा। डिब्रूगढ़ के जालाननगर टी गार्डेन में भी एक धमका हुआ है। बताया जाता है कि असम-नगालैंड सीमा पर रात भर गोलीबारी की आवाज सुनी गई है। Also Read - Jammu & Kashmir: श्रीनगर में बीजेपी नेता के निवास पर आतंकियों का हमला, घायल पुलिस जवान की मौत हुई

ये भी पढ़ें: 4 आतंकियों पर अकेले ही भारी पड़े थे हंगपन ‘दादा’, मरणोपरांत मिला अशोक चक्र Also Read - पीएम मोदी ने फोन पर की नेतन्याहू से बात, बोले- आतंकी हमले के दोषियों को सजा दिलाने के लिए पूरी ताकत झोंक देगा भारत

इसके अलावा दो बम धमाके नाजिरा इलाके की बिहुबोर में हुए हैं। ये सभी धमाके कम तीव्रता के थे, इसलिए इनमें कोई हताहत नहीं हुआ है। असम में दो स्थानों पर बम धमाके हुए हैं। गौरतलब है कि गणतंत्र दिवस पर आतंकी हमलों के मद्देनजर पूरे देश में सुरक्षा व्यवस्था काफी चुस्त है। खुफिया एजेंसियों ने पहले ही गणतंत्र दिवस के दिन आतंकी हमलों की आशंका जताई थी।
आपको बता दें कि गणतंत्र दिवस के मौके पर किसी आतंकी घटना को रोकने के लिए पूरे देश में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। बात करें राजधानी दिल्ली की तो यहां 50 हजार से ज्यादा सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है। इनमें दिल्ली पुलिस के जवानों से लेकर एनएसजी के कमांडोज तक शामिल हैं। यहां हो रहे गणतंत्र दिवस सेलिब्रेशन की एक खासियत यह भी है कि यूएई के क्राउन प्रिंस मुख्य अतिथि हैं। इससे पहले, पिछले साल फ्रांस के राष्ट्रपति ओलांद मुख्य अतिथि बने थे। Also Read - जम्मू-कश्मीर: आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर किया हमला, दो जवान शहीद