बेंगलुरू: कर्नाटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस – जद (एस) गठबंधन की सरकार अगर अपने आप गिर जाती है, तो सबसे बड़ी पार्टी भाजपा इसका विकल्प तलाशेगी. यह बात सोमवार को केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री डी. वी. सदानंद गौडा ने कही. उन्होंने कहा कि विकास पर कोई राजनीति नहीं होगी. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार में कर्नाटक के मंत्री राज्य के हित में काम करेंगे.Also Read - 12 दिसंबर को दिल्ली में होगी कांग्रेस की ‘महंगाई हटाओ रैली’, सोनिया और राहुल करेंगे संबोधित

गौडा ने कहा, ”वे जो करना चाहते हैं (राज्य में), उन्हें (कांग्रेस -जद एस) करने दीजिए. हम राज्य के विकास के लिए काम करना चाहते हैं, हम इस सरकार को गिराने के लिए कोई प्रयास नहीं करेंगे.” उन्होंने कहा, अगर यह अपने आप गिरती है तो हम जिम्मेदार नहीं हैं. Also Read - विपक्षी दलों ने संविधान और बाबासाहेब का अपमान किया है, जनता इनको माफ नहीं करेगी: जेपी नड्डा

केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री गौडा ने संवाददाताओं से कहा, अगर वह (कांग्रेस- जद एस सरकार) अपने आप गिरती है तो एक पार्टी के रूप में, सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर यह हमारी जिम्मेदारी है कि विकल्प की तलाश करें. उसी राजनीतिक विचार से हम काम करते हैं. Also Read - सपा नेता की दरोगा को धमकी- 'हमारे झंडे नोचोगे तो हम तुम्हारे बिल्ले नोच लेंगे', फिर हुआ ये

भाजपा द्वारा गठबंधन सरकार को कमजोर करने के आरोप को खारिज करते हुए भगवा दल के राज्य अध्यक्ष बी एस येदियुरप्प ने भी शुक्रवार को कहा था कि केंद्रीय नेताओं ने राज्य इकाई से कहा है कि एच डी कुमारस्वामी मंत्रिमंडल को अस्थिर करने की किसी भी गतिविधि में शामिल नहीं हों.