नई दिल्ली: पाकिस्तान के होने वाले अगले प्रधानमंत्री इमरान खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई मुद्दों पर अपनी बात रखी. उन्होंने नया पाकिस्तान कैसा होगा इसका खांका खींचा.इमरान खान ने फॉरेन पॉलिसी पर भी अपनी बात रखी और पड़ोसी देशों से बेहतर रिश्ते की बात कही. उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान की मीडिया ने मुझे विलेन बनाया. इमरान ने कहा कि क्रिकेट की वजह से मैं भारत को अच्छी तरह समझता हूं. भारते के साथ रिश्तों को लेकर उन्होंने कहा कि पाकिस्तान भारत के साथ बेहतर रिश्ते चाहता है.

इमरान खान के ‘रोड टू नया पाकिस्तान’ में किस मोड़ पर खड़ा होगा भारत

इमरान खान ने कहा कि अगर भारत एक कदम बढ़ेगा तो हम दो कदम बढ़ेंगे. उन्होंने दोनों देशों के बीच व्यापार बढ़ाने पर जोर दिया. उन्होंने कहा कि व्यापार का फायदा दोनों देशों को होगा. कश्मीर के मसले पर उन्होंने कहा कि कश्मीर के लोग पिछले 30 साल से ह्यूमन राइट वॉयलेशन के शिकार हैं. कश्मीर के लोगों ने 30 सालों तक संघर्ष झेला है. सेना से किसी समस्या का हल नहीं होगा.

इमरान खान: पहली शादी 9 साल, दूसरी सिर्फ 9 महीने चली, 65 साल में की तीसरी शादी

कश्मीर का मसला बातचीत से सुलझाना होगा.इमरान ने कहा कि अब तक दोनों देशों के बीच एकतरफा रिश्ता रहा है. हर बात के लिए पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराने की प्रवृत्ति बदलनी होगी. दोनों देशों की सरकारों को एक टेबल पर एक साथ बैठ कर बातचीत करना होगा जिससे समस्या का हल निकले.

इमरान खान की लहर में पूर्व पीएम शाहिद खाकान ने भी गंवाई अपनी सीट

इमरान खान ने कहा कि चीन हमारे लिए महत्वपूर्ण है. चीन से हम सीखना चाहते हैं कि गरीबी कैसे दूर करनी है. उन्होंने कहा कि हम डेलिगेशन भेजेंगे. उन्होंने कहा कि करप्शन पर एक्शन चीन से सीखेंगे. अफगानिस्तान दूसरा पड़ोसी है. ईरान के लोगों ने इस दुनिया में सबसे ज्यादा तकलीफ उठाई है. हम वहां अमन चाहते हैं. अफगानिस्तान में अमन होगा तो पाकिस्तान में भी अमन होगा. अमेरिका के साथ रिश्ते अच्छे नहीं रहे हैं. हम बैंलेंस रिश्ता चाहते हैं. ईरान से अपने तालुकात बेहतर करेंगे, सऊदी अरब से रिश्ते बेहतर करेंगे, मिडिल ईस्ट में शांति आए यही कोशिश होगी. हम पूरी दुनिया में अमन चाहते हैं.