नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने फिर ऐसा बयान दिया है जिससे बीजेपी आलाकमान को दिक्कत हो सकती है. सिन्हा ने जम्मू कश्मीर के अलगाववादी नेताओं से बातचीत को सही ठहराते हुए कुछ सवाल भी किए और तंज भी कसा.Also Read - UP: BJP समर्थित बागी सपा विधायक नितिन अग्रवाल बड़े अंतर से यूपी विधानसभा के उपाध्यक्ष चुने गए, CM योगी ने SP पर हमला किया

यशवंत सिन्हा ने कहा कि अगर आजकल आप अलगाववादियों से बात करते हैं तो आपको राष्ट्रविरोधी करार दे दिया जाता है. क्या इसका मतलब ये है कि अटल जी राष्ट्रविरोधी थे? Also Read - Bihar के डिप्‍टी CM ने कहा- भारत-पाक के बीच T20 WC मैच रुकनी चाहिए, BCCI उपाध्‍यक्ष ने कही ये बात

उन्होंने कहा कि पिछले 70 साल से संबंध नहीं सुधरे हैं. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि भरोसे की कमी थी. जब तक पाकिस्तान पुराने रवैये पर कायम रहता है, बातचीत का कोई मतलब नहीं है. सिन्हा ने कहा कि फारुक अब्दुल्ला हमेशा राष्ट्रवादी रहे हैं. उपचुनाव नजदीक हैं, इसलिए कह नहीं सकता कि उन्होंने हाल ही में किस संदर्भ में बयान दिया है. Also Read - सुना है कि बीजेपी अपने 150 MLA के टिकट काटने जा रही... हमने 300 सीटों को पार कर लिया: अखिलेश यादव

बता दें कि यशवंत सिन्हा हाल ही में अन्य दलों के नेताओं के साथ अलगाववादियों से बातचीत करने कश्मीर भी पहुंचे थे. उन्होंने कुछ नेताओं से बातचीत भी की. भारतीय जनता पार्टी और केंद्र सरकार की राय के उलट कई मौकों पर वह अलगाववादियों से बातचीत का समर्थन कर चुके हैं. इसके अलावा अपने बयानों से उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी को भी निशाना बनाया है.