Odisha gang rape news: साल 1999 में IFS अफसर की पत्नी से कार में गैंगरेप करने का मुख्य आरोपी 20 साल बाद अरेस्ट हुआ है. ये एक ऐसा सनसनीखेज मामला था जिसके चलते तत्कालीन मुख्यमंत्री जे बी पटनायक (anaki Ballabh Patnaik) को इस्तीफा देना पड़ा था. मामला ओडिशा का है. यहां के एक आईएफएस अधिकारी की पत्नी से हुए सामूहिक बलात्कार के सनसनीखेज मामले के मुख्य आरोपी को महाराष्ट्र में पकड़ लिया गया.Also Read - भारत में 2 सालों में पेड़, वन क्षेत्र में 2261 वर्ग KM की बढ़ोतरी हुई : ISFR Report

तीनों लोगों ने 1999 में नौ-10 जनवरी की रात में बारंगा के निकट महिला की कार रोक ली थी और उससे सामूहिक बलात्कार किया था. महिला अपने एक पत्रकार मित्र के साथ कार से कटक जा रही थी. इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई थी. Also Read - Panchayat Elections News: ओडिशा में 16 फरवरी से 5 चरणों में होंगे त्र‍िस्‍तरीय पंचायत चुनाव

इस मामले के कारण ओडिशा के तत्कालीन मुख्यमंत्री जे बी पटनायक को 1999 में इस्तीफा देना पड़ा था. भुवनेश्वर-कटक के पुलिस आयुक्त एस सारंगी ने सोमवार को बताया कि बिबेकानंद बिस्वाल उर्फ बिबन को महाराष्ट्र के लोनावला में आम्बी घाटी से पकड़ा गया. उन्होंने बताया कि बिबन वहां जालंधर स्वैन की फर्जी पहचान के साथ पलम्बर (नलसाज) के रूप में काम कर रहा था. Also Read - 7th Pay Commission: कर्मचारियों को मिला नए साल का तोहफा, DA में 3 फीसदी की बढ़ोतरी, बकाये पर भी आया फैसला

अधिकारी ने बताया कि आरोपी को पकड़ने के लिए तीन महीने पहले ‘ऑपरेशन साइलेंट वाइपर’ शुरू किया गया था, जिसके बाद उसे पकड़ा जा सका. इस घटना के बाद राज्य भर में लोगों की व्यापक नाराजगी के बाद तत्कालीन मुख्यमंत्री को अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा था.

अधिकारियों ने बताया कि इस मामले में तीन लोग आरोपी हैं, जिनमें से दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया था और दोषी ठहराया गया था, लेकिन बिबन दो दशक से अधिक समय से फरार था. मामले के एक दोषी प्रदीप साहू उर्फ पाडिया की पिछले साल फरवरी में यहां कैपिटल हॉस्पिटल में उपचार के दौरान मौत हो गई थी. इस मामले में सबसे पहले 15 जनवरी, 1999 को पाडिया को गिरफ्तार किया गया था.

खुर्दा जिला सत्र न्यायाधीश ने 2002 में उसे एवं टूना मोहंती को दोषी ठहराया था और उन्हें आजीवन कारावास की सजा सुनाई दी. उच्च न्यायालय ने इस फैसले को बरकरार रखा था. सूत्रों ने बताया कि पुलिस अब बिबन को सीबीआई को सौंपेगी, जो उसे आधिकारिक रूप से गिरफ्तार करेगी. महिला ने मुख्य आरोपी को मृत्युदंड दिए जाने की मांग की है.

(इनपुट भाषा)