आइजोल/रांची/कोलकाता. आईआईएमसी एलुम्नाई एसोसिएशन का सालाना मीट कनेक्शन्स मिजोरम के आइजोल, झारखंड के रांची और पश्चिम बंगाल के कोलकाता में आयोजित हुआ. दिल्ली से 17 फरवरी को शुरू हुए देश-विदेश में कुल 21 कनेक्शन्स मीट की सीरीज में इसके साथ ही 19 मिलन समारोह संपन्न हो गए हैं. 13 अप्रैल को हैदराबाद और ढाका में इसके आयोजन के साथ 2019 के सालाना मीट का सिलसिला पूरा हो जाएगा. बांग्लादेश की राजधानी में ईमका अध्यक्ष प्रसाद सान्याल इस वर्ष के कनेक्शन्स मीट के औपचारिक समापन का ऐलान करेंगे.

मिजोरम सब चैप्टर के कनेक्शन्स आइजोल मीट की अध्यक्षता चैप्टर अध्यक्ष इरेने लालरुआतकिमी ने की जिसमें आईआईएमसी के पूर्वोत्तर केंद्र के प्रभारी प्रो. एसआर साइलो के अलावा ईमका मिजोरम सब चैप्टर की कोषाध्यक्ष एजरेला डैलिडिया फनाई, एग्जीक्युटिव मेंबर एंजेला ललरितुआंगी, के. लालरेमसांगा, मारिया ग्रेस लालरामेंगी, जेवी लालपुनिया और एमी फेलिसिया डेनियेले भी शामिल हुए. मीट को संबोधित करते हुए प्रो. साइलो ने खुशी जताई की संस्थान के भूतपूर्व छात्र संघ ने मिजोरम से सब चैप्टर और सालाना मीट के आयोजन की शुरुआत की है.

झारखंड चैप्टर का कनेक्शन्स रांची मीट चैप्टर अध्यक्ष मनोज कुमार की सदारत में संपन्न हुआ जिसमें संबोधित करते हुए ईमका अध्यक्ष प्रसाद सान्याल ने ईमका मेडिकल असिस्टैंड फंड और ईमका स्कॉलरशिप की विशेष रूप से चर्चा की. मीट को पूर्व राष्ट्रीय संगठन सचिव विजय पांडे, राष्ट्रीय संगठन सचिव रीतेश वर्मा, केंद्रीय समिति सदस्य अफजल आलम, चैप्टर उपाध्यक्ष देवव्रत सिंह, अमित गुप्ता, महासचिव प्रणव प्रत्यूष दास, कोषाध्यक्ष कुमार राजेश, संगठन सचिव पूजा उरांव, कार्यकारिणी सदस्य मनीष सिंह, संतोष उरांव, राजेश कुमार, रणजीत कुमार, अभिषेक कुमार ने भी संबोधित किया.

कनेक्शन्स कोलकाता मीट की अध्यक्षता पश्चिम बंगाल चैप्टर के अध्यक्ष सुबीर भौमिक ने की जबकि संचालन महासचिव पियाली चटर्जी ने किया. कोलकाता मीट को ईमका अध्यक्ष प्रसाद सान्याल, राष्ट्रीय संगठन सचिव रीतेश वर्मा, केंद्रीय समिति सदस्य अतुल गुप्ता, शंकर पंडित, राजस्थान चैप्टर की अध्यक्ष अमृता मौर्य, उड़ीसा चैप्टर के प्रतिनिधि पद्मलोचन प्रधान समेत सीनियर एलुम्नाई असीस चक्रबर्ती, सुबीर घोष, प्रमोद कुमार, अमरीन इजहार, पल्लबी राय, उत्सव समेत अन्य लोगों ने संबोधित किया. मीट में बंगाल चैप्टर ने स्थानीय स्तर पर मास मीडिया से जुड़े मसलों पर सेमिनार आयोजित करने का फैसला लिया.