नई दिल्ली: इंद्रप्रस्थ सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान-दिल्ली इस वर्ष जुलाई में शुरू हो रहे नये सत्र से ‘आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस’ में विशेषज्ञता का एम.टेक पाठ्यक्रम शुरू करने जा रहा है. राष्ट्रीय राजधानी में यह पाठ्यक्रम उपलब्ध कराने वाला पहला संस्थान होगा. Also Read - कैसे बनेंगे इंजीनियर, देश के टॉप-8 आईआईटी में टीचर्स के 36 फीसदी पद हैं खाली

आईआईआईटी-दिल्ली के इन्फोसिस सेंटर फोर आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के प्रमुख मयंक वत्स बताया, यह पाठ्यक्रम अनुसंधान-उन्मुख होगा और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मशीन लर्निंग के आाधारभूत चीजों और विकास पर केंद्रित होगा. वत्स ने बताया कि ऐसा दिल्ली में पहली बार होगा. Also Read - 'आर्टीफिशियल इंटेलिजेंस सिस्टम' बताएगा धार्मिक हिंसा भड़कने की वजह: रिसर्च

यह पाठ्यक्रम आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) और मशीन लर्निंग (एमएल) तकनीकों का उपयोग करके नवाचार और समस्या सुलझाने वाले उद्योग कैरियर के लिए स्नातक तैयार करेगा. यह पाठ्यक्रम चार सेमेस्टर का होगा और इसमें 20 छात्र शामिल होंगे. Also Read - वैज्ञानिकों ने विकसित की नई तकनीक, पहले ही चलेगा अल्जाइमर का पता!

वत्स ने बताया, इस पाठ्यक्रम के बाद, छात्र, वास्तविक समस्याओं को हल करने के लिए मशीन लर्निंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस तकनीकों लागू करने वाली मान्य पैटर्न को लागू कर एआई एप्लिकेशंस से संबंधित समस्याओं को पहचान और विश्लेषण करने में सक्षम हो सकेंगे.

आईआईआईटी-दिल्ली में इस पाठ्यक्रम को दिल्ली सरकार आईआईआईटी-दिल्ली अधिनियम, 2007 के तहत शुरू करने जा रही है. इस संस्थान का चांसलर दिल्ली के उपराज्यपाल होते हैं.