नई दिल्ली | केरल के छात्र आर सूरज की पिटाई के विरोध में बड़ी संख्या में रेवलूशनेरी स्टूटेंस एंट यूथ फ्रंट के छात्रों ने अपना विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. छात्र अपने इस आंदोलन के दौरान आईआईटी मद्रास के डीन से भी मुलाकात करेंगे. इस घटना के बाद रात से ही छात्रों ने कैंपस में इकठ्ठा हो गए थे. आर सूरज की पिटाई आईआईटी मद्रास में एक बीफ फेस्ट के आयोजन के बाद की गई.

आर सूरज की पिटाई करने का आरोप राइट विंग संगठनों से जुड़े छात्रों पर लगा है. इन्होने आर सूरज की इतनी पिटाई कर दी कि उसके सूरज की आंख में गंभीर चोट आई है और उसे अस्पताल में भर्ती किया गया है.  वहीं डीएमके के कार्यकारी अध्यक्ष एम के स्टालिन ने भी अपने कार्यकर्ताओं के साथ बीफ बैन के विरोध में प्रदर्शन किया.

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने छात्र आर सूरज की पिटाई की निंदा की है. उन्होंने कहा कि मैं तमिलनाडु के मुख्यमंत्री से आग्रह करूंगा कि हमले के जिम्मेदार लोगों के खिलाफ जरुरी कार्रवाई की जाए. खबरों के मुताबिक केरल की सरकार केंद्र के अध्यादेश पर विचार के लिए विशेष सत्र बुला सकती है. इसे लेकर कैबिनेट की बैठक रखी गई है.  वहीं यह भी खबर आ रही है कि पिटाई के मामले में 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है.

केरल के सीएम पिनाराई विजयन ने मवेशियों की बिक्री पर रोक के फैसले के विरोध में अपनी नाराजगी जाता चुके हैं. सीएम पिनाराई विजयन ने दो दिन पहले कहा था कि दिल्ली और नागपुर यह तय नहीं कर सकते कि हमें क्या खाना और क्या नहीं खाना है. उन्होंने कहा था कि सरकार को नोटिफिकेशन जारी करने से पहले राज्यों के साथ बैठकर इस पर सलाह करनी चाहिए थी.

गौरतलब हो कि केंद्रीय पर्यावरण मंत्रालय ने पशुओं को क्रूरता से बचाने के लिए 26 मई को नियमों में संशोधन किया था, जिसमें पशु बाजारों में कत्ल के लिए जानवरों की खरीद-फरोख्त पर रोक सुनिश्चित की गई है. कत्ल करने के लिए जिन जानवरों की बाजारों में खरीद-फरोख्त नहीं की जा सकती, उनमें गाय, सांड, भैंस, बछिया, बछड़ा तथा ऊंट शामिल हैं.