बेंगलूरु। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने अनंत कुमार हेगड़े को केंद्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल किए जाने पर सोमवार को चिंता जताई. एसोसिएशन ने कहा कि इससे चिकित्सा समुदाय को ‘‘गलत संदेश’’ गया है. हेगड़े पर डॉक्टरों पर हमला करने का आरोप है.

एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. के. के. अग्रवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे एक खुले पत्र में कहा कि हेगड़े को मंत्रिपरिषद में शामिल कि जाने से चिकित्सा समुदाय ‘‘व्यथित’’ है. उन्होंने प्रधानमंत्री से फैसले में ‘‘उचित संशोधन’’ का आग्रह किया.

हेगड़े ने जनवरी में यह आरोप लगाते हुए सिरसी में एक निजी अस्पताल में डॉक्टरों पर कथित हमला किया था कि वे उनकी मां का उचित उपचार नहीं कर रहे हैं. घटना की सीसीटीवी फुटेज वायरल हो गई थी.

हेगड़े पर कांग्रेस ने भी लगाए थे आरोप

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा था कि कर्नाटक के अनंत कुमार हेगड़े को मंत्रिपरिषद में शामिल किया जाना सबसे आश्चर्यजनक है. उन्होंने कहा था कि एक वीडियो सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध है जिसमें हेगड़े को एक निजी अस्पताल में डॉक्टरों को कथित रूप से पीटते हुए दिखाया गया है.  सुरजेवाला ने कहा था कि हेगड़े का सांप्रदायिक रूप से ध्रुवीकरण करने के प्रयास करने का पुराना रिकॉर्ड रहा है. उन्हें सरकार में शामिल करने से यह स्पष्ट संकेत है कि बीजेपी कर्नाटक में सांप्रदायिकता फैलाना चाहती है.

भाषा इनपुट