Complete Lockdown Updates: देश में कोरोना का कहर जारी है. कोरोना की लहर पर काबू पाने के लिए लॉकडाउन जैसी पाबंदियां लागू हैं. हालांकि इन सबके बावजूद कोरोना के नए मामलों में कमी नहीं आ रही है. दिल्ली में भी लॉकडाउन लागू है. लॉकडाउन के दौरान हालांकि दिल्ली में कोरोना के मामलों में कमी देखी गई है. इन सबके बीच कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने दिल्ली की विभिन्न प्रमुख व्यापारिक संगठनों के साथ बैठक में यह फैसला लिया कि कोरोना महामारी की वर्तमान स्थिति के मद्देनजर अभी भी दिल्ली में दुकानें और बाजाप खोलने लायक हालात नहीं बने हैं. वर्तमान में इस लॉकडाउन (Delhi Lockdown Extension News) को आगे बढ़ाने की जरूरत है. CAIT ने आज एक बार फिर दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को एक पत्र भेजकर वर्तमान लॉकडाउन को 17 मई तक आगे बढ़ाने का आग्रह किया है. Also Read - भारत के ई कॉमर्स व्यापार को 'आर्थिक आतंकवाद' से मुक्त करे सरकार: कैट

दिल्ली में वर्तमान में जारी लॉकडाउन 10 मई को समाप्त (Delhi Lockdown Last Date) हो रहा है. दिल्ली के सभी भागों के प्रमुख व्यापारिक संगठनों ने मीटिंग में यह भी कहा , दिल्ली में कोरोना को लेकर हालात ठीक नहीं हैं और इसलिए 10 मई से आगे एक सप्ताह यानी 17 मई तक दिल्ली के प्रमुख व्यापारी संगठन अपने बाजारों में स्वैच्छिक स्वयं लॉक डाउन करेंगे. Also Read - Delhi Lockdown-Unlock: केजरीवाल की चेतावनी, 'दिल्ली में फिर लग सकती हैं लॉकडाउन जैसी पाबंदियां, इसलिए...'

मीटिंग में दिल्ली के 100 से अधिक व्यापारी संगठनों के व्यापारी नेता मौजूद थे. उन्होंने स्पष्ट रूप से कहा, किसी भी सूरत में हम दिल्ली के व्यापारियों को कोरोना की आग में जलते रहने के लिए नहीं छोड़ सकते. इसलिए या तो सरकार द्वारा लॉकडाउन को एक सप्ताह के लिए आगे बढ़ाया जाए अथवा व्यापारियों द्वारा स्वैच्छिक लॉकडाउन किया जाना ही वर्तमान में एक मात्र विकल्प है.’ Also Read - Delhi Lockdown-Unlock: दिल्ली में कोरोना के 255 नए मामले, 23 मरीजों की मौत; साप्ताहिक बाजारों के लिए DDMA ने जारी की गाइ़लाइन

मीटिंग में इस बात का भी जिक्र किया गया कि, दिल्ली में लॉकडाउन (Delhi Lockdow Update) का सख्ती से पालन नहीं हो रहा है. केवल दुकानें बंद है, जबकि आने जाने पर कोई रोक टोक नहीं है. कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए दिल्ली में सम्पूर्ण लॉकडाउन (Full Lockdown) सख्ती के साथ लगाया जाना जरूरी है.’ बता दें कि इससे पहले CAIT ने पीएम नरेंद्र मोदी से देशव्यापी लॉकडाउन की मांग भी की है.

(इनपुट: IANS)