टोक्यो: भारतीय दूतावास ने सोमवार को यहां कहा कि जापान तट पर पृथक खड़ा रखे गए एक क्रूज जहाज पर जिन चार भारतीयों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि हुई थी, उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है. वहीं, 99 नये मामलों के सामने आने के साथ जहाज पर इस वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ कर 454 पहुंच गई है. दूतावास ने रविवार को एक ट्वीट में कहा था कि डायमंड प्रिंसेस जहाज पर दो और भारतीयों में कोरोना वायरस की पुष्टि के साथ संक्रमित भारतीयों की संख्या बढ़ कर पांच हो गई है. Also Read - बढ़ते लॉकडाउन और कोरोना के प्रभाव से परेशान हो गए हैं रणवीर सिंह, बोले- तबाह कर देने जैसा है

हालांकि, सोमवार को दूतावास ने इस आंकड़े को संशोधित कर चार बताया. दूतावास ने एक ट्वीट में कहा कि सीओवीआईडी 19 (कोरोना वायरस) से संक्रमित सभी चार भारतीयों का उपचार किया जा रहा, जिससे उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है. दूतावास ने कहा, ‘‘तोक्यो स्थित भारतीय दूतावास डायमंड प्रिंसेस पर सवार भारतीयों से संपर्क में है. वे इस तरह की स्थति में जन सुरक्षा चिंताओं को समझते हैं.’’ Also Read - Coronavirus In India Update: संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 51 हजार के पार, इस राज्य में सबसे अधिक मामले

इस बीच, और 99 लोगों के इस वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि के साथ जहाज पर कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ कर 454 हो गई है. जहाज पर सवार 3711 लोगों में कुल 138 भारतीय हैं. यह जहाज इस महीने की शुरूआत में जापान तट पर पहुंचा था. हांगकांग में उतारे गए एक यात्री में कोरोना वायरस की पुष्टि होने के बाद इस जहाज को जापान तट पर पृथक खड़ा कर दिया गया. Also Read - कोविड-19 जांच के लिए 4,500 रुपए की सीमा हटाई गई, अब राज्य और निजी प्रयोगशालाएं तय करेंगी कीमत

दूतावास ने कहा कि वह पृथक रखे जाने की अवधि समाप्त होने के शीघ्र बाद जहाज से सभी भारतीयों को निकालने के लिए कोशिशें कर रहा है. वह जापान सरकार और जहाज प्रबंधन कंपनी से इसके तौर तरीकों पर चर्चा कर रहा है. अमेरिका ने सोमवार को अपने 340 नागरिकों को जहाज से निकाल लिया.

समाचार एजेंसी एएफपी की एक खबर के मुताबिक जापान स्थित अमेरिकी दूतावास इस बात की पुष्टि की है कि जहाज से उतारे गए उसके नागरिकों को लेकर दो विमानों ने जापान से उड़ान भरी है. विमान पर सवार लोगों को अमेरिका में और 14 दिन पृथक रखा जाएगा.

अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि चीन में इस वायरस के संक्रमण से 105 और लोगों की मौत होने के बाद मृतकों की संख्या बढ़ कर 1770 हो गई है. इससे सर्वाधिक प्रभावित हुबेई प्रांत हुआ है.