नई दिल्ली: उबर कैब की बेहतर सर्विस पर एक बार फिर सवालिया निशान लग गया है. दिल्ली पुलिस ने एक निजी कंपनी में काम करने वाली महिला के अपहरण और छेड़छाड़ करने के आरोप में उबर कैब के ड्राइवर को गिरफ्तार किया है. घटना नौ मार्च की शाम उस समय हुई, जब पीड़ित महिला ने रोहिणी के लिए कैब ली. मामले में महेंद्र पार्क पुलिस थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है. Also Read - Earthquake in Delhi: दिल्ली-NCR में भूकंप के झटकों से कांपी धरती, रिएक्टर स्केल पर 4.7 मापी गई तीव्रता

पुलिस रिपोर्ट के मुताबिक, घटना नौ मार्च की शाम को हुई. एक निजी कंपनी में काम करने वाली महिला ने घर जाने के लिए उबर कैब बुक की. पुलिस ने बताया कि महिला आमतौर पर खुद ही कार ड्राइव करती है, लेकिन उस दिन मोबाइल एप के जरिए कैब बुक की थी. उसकी शिकायत के अनुसार, महिला को शुरू से ही कैब चालक की गतिविधियां संदिग्ध लगीं, क्योंकि ड्राइवर मोबाइल ऐप में लगी तस्वीर से मेल नहीं खा रहा था. वहां से चलने के बाद चालक ने एक अलग रास्ता ले लिया है और उसको घूर रहा था. Also Read - अरविंद केजरीवाल का बयान- दिल्ली की हालत में हो रहा सुधार, एक्सपर्ट्स की बातों पर न दें ध्यान

कार चालक ने दी जान से मारने की धमकी
चालक ने जब अलग रास्ता लिया तो महिला ने एतराज जताया. चालक ने पीड़ित महिला को जान से मारने की धमकी दी और उसके साथ छेड़छाड़ करने लगा. इस पर महिला ने अपने एक मित्र से फोन पर बात करने की कोशिश की तो चालक ने कार में लगे म्यूजिक सिस्टम को तेज कर दिया, जिससे महिला की बात नहीं हो सकी. इसके बाद महिला ने कार से नीचे उतरने की कोशिश की, लेकिन चालक ने कार के सेंट्रल लॉक बंद कर दिए. आखिरकार, जब कार एक समय में धीमी हुई तो महिला ने किसी तरह कार का लॉक खोला और छलांग लगा दी. इसके बाद आरोपी चालक कार लेकर फरार हो गया. पीड़ित महिला सीधे पुलिस के पास पहुंची. Also Read - LPG Price: एलपीजी सिलेंडर के दाम में हुई वृद्धि, जानें अब कितना करना होगा भुगतान

महिला की शिकायत पर पुलिस ने दर्ज की शिकायत
असलम खान, डीसीपी (उत्तर पश्चिमी) ने बताया कि गिरफ्तार कैब चालक की पहचान गांधीनगर, गुन्नौर, हरियाणा के रहने वाले संजीव उर्फ संजू के रूप में हुई है. पीडि़ता ने इसकी शिकायत महेंद्र पार्क थाने में की थी. पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की. जांच के दौरान उबर कंपनी से कार का नंबर लेकर उसकी पहचान की गई. कार गांव जैंतीकलां, सोनीपत में अमित के नाम पर रजिस्टर्ड थी. मामले में कार के मालिक और उबर को भी नोटिस जारी की जाएगी.

उबर के प्रवक्ता ने जताया खेद
उबर के प्रवक्ता ने एक बयान में पूरे घटनाक्रम पर खेद जताया है. कहा कि उबर, उबर ऐप का इस्तेमाल करके सवारी करने वालों की सुरक्षा को बहुत गंभीरता से लेता है. वर्तमान की घटना में चालकों ने इस समझौते की शर्तों का उल्लंघन किया है. हमने तुरंत ड्राइवर पार्टनर को उबर ऐप से निकाल दिया है. अकाउंट और उबर ऐप के माध्यम से हम अनधिकृत चालक के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेंगे. हम कानून प्रवर्तन अधिकारियों को उनकी जांच के लिए आवश्यक जानकारी के साथ समर्थन करने के लिए तैयार हैं.