नई दिल्ली: हरियाणा विधानसभा चुनाव में ‘किंग मेकर’ बनकर उभरे दुष्यंत चौटाला की पार्टी जननायक जनता पार्टी (जेजेपी) के साथ भाजपा सरकार बनाने जा रही है. नई सरकार में जेजेपी को डिप्टी सीएम का पद मिलेगा. राज्य में भाजपा बहुमत के लिए जरूरी 46 के आंकड़े को पार नहीं कर पाई है. दूसरी तरफ पहली बार चुनाव में उतरी जेजेपी ने 10 सीटें हासिल की है. लेकिन मजेदार तथ्य यह है कि जिस जेजेपी ने इस पूरे चुनाव में भाजपा का खेल बिगाड़ा… अब पार्टी उसी के साथ सरकार बनाने जा रही है.

राज्य में जेजेपी ने भाजपा को भारी नुकसान पहुंचाया है. आंकड़े बता रहे हैं कि उसने इस चुनाव में भाजपा के साथ चुनाव लड़ा और मतदाताओं ने भी उसे भाजपा के विरोधी दल के रूप में चुना है. जेजेपी के उम्मीदवारों ने भाजपा के पूर्व वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु और पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी बिरेन्द्र सिंह की पत्नी प्रेम लता जैसे दिग्गजों को मात दी है. जेजेपी को जिन 10 सीटों पर जीत हासिल हुई उसमें से आठ सीटों पर उसने भाजपा के उम्मीदवारों को हराया है.

दुष्यंत चौटाला ने खुद जींद जिले की उचाना कलां सीट से प्रेम लता को 47,452 मतों से हराया. यह जाट बहुल निर्वाचन क्षेत्र हिसार लोकसभा का हिस्सा है. 2014 के हरियाणा विधानसभा चुनाव में उचाना कलां सीट से दुष्यंत चौटाला प्रेम लता के हाथों हार गए थे. इसके बाद दुष्यंत ने हिसार लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा और उन्होंने चौधरी बिरेन्द्र सिंह के बेटे बृजेंद्र सिंह को हराया. हालांकि 2019 के लोकसभा चुनाव में दुष्यंत चौटाला, बृजेंद्र सिंह के हाथों हार गए. दुष्यंत हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला के पोते और दिग्गज नेता देवीलाल के परपोते हैं.

जेजेपी के एक अन्य उम्मीदवार राम कुमार गौतम ने कैप्टन अभिमन्यु को नारनौंद विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र 12,000 मतों के अंतर से हराया जबकि भाजपा के प्रमुख सुभाष बराला को जेजेपी के देवेंद्र सिंह बबली से अपमानजनक हार का सामना करना पड़ा. वह इस चुनाव में देवेंद्र सिंह से 52,302 वोटों के भारी अंतर से टोहाना विधानसभा सीट से हार गए. खट्टर सरकार में मंत्री कृष्ण कुमार बेदी शाहबाद आरक्षित चुनाव क्षेत्र से जेजेपी के राम करण से हार गए. वह 37,127 वोटों के अंतर से हार गए. जेजेपी उम्मीदवारों ने बरवाला, तुला, नरवाना और उकलाना विधानसभा क्षेत्रों से भाजपा के उम्मीदवारों को भी हराया. वहीं जेजेपी के उम्मीदवारों ने बादरा और गुहला से कांग्रेस के उम्मीदवारों को हराया.