श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर पाकिस्तानी सेना द्वारा फिर से आतंकवादियों को भारतीय सीमा में घुसपैठ कराने का प्रयास किया गया. लेकिन भारतीय सेना के सर्तक जवानों ने सीमा पर घुसपैठ का प्रयास कर रहे तीन आतंकवादियों को मार गिराया. जबकि 2 आतंकियों के बच कर निकल जाने का अनुमान है. रमजान के पाक महीने में जहां एक तरफ भारत ने संघर्ष विराम का ऐलान किया हुआ है वही पाकिस्तानी सेना अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रही है. पाकिस्तानी सेना को भारत का उदार रवैया शायद समझ नहीं आ रहा.

पाकिस्तानी फायरिंग में मरने वालों की संख्या हुई 5, रमजान में भी आतंकियों ने नहीं दिखाई शांति

सेना ने दिया मुंहतोड़ जवाब
शुक्रवार देर रात पाकिस्तानी सेना द्वारा फिर से संघर्ष विराम का उल्लंघन कर गोलाबारी की गई. इस गोलाबारी का उद्देश्य आतंकवादियों को भारतीय सीमा में घुसपैठ करना था. हालांकि भारतीय सेना के जवानों ने भी मुंहतोड़ जवाब देते हुए, जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर घुसपैठ का प्रयास कर रहे तीन आतंकवादियों को मार गिराया. सेना के प्रवक्ता ने मीडिया को बताया कि सेना के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी के दौरान सीमा पर संदिग्ध गतिविधियां देखी. उन्होंने देखा कि आतंकवादियों का एक समूह भारतीय सीमा के कवनार क्षेत्र में घुसपैठ करने की कोशिश कर रहा था. सैन्य प्रवक्ता ने बताया कि जवानों द्वारा ललकारे जाने पर उन्होंने गोलीबारी शुरू कर दी. सेना ने भी उनकी इस कार्रवाई का मुहतोड़ जवाब दिया. सेना की जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकवादी मारे गए. माना जा रहा है कि इनके साथ आए दो अन्य आतंकवादी फरार हो गए. फरार आतंकियों की तलाश में सेना द्वारा काम्बिंग जारी है. सेना को उनके कहीं आस-पास के इलाकों में ही छिपे होने का अंदेशा है.
(इनपुट एजेंसी)