कोलकाता: कोलकाता में रविवार को तीन और व्यक्तियों में कोरोना वायरस पाए जाने की पुष्टि हुई है जिसके बाद पश्चिम बंगाल में कोविड-19 के मामले बढ़कर सात हो गए हैं. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने यह जानकारी दी. जिन तीन लोगों में वायरस की पुष्टि हुई है उनमें से दो ब्रिटेन से लौटे 22 वर्षीय एक युवक के माता पिता हैं और तीसरी उनके घर में काम करने वाली घरेलू सहायक है. Also Read - भाजपा प्रमुख ने तब्लीगी जमात पर साधा निशाना, कहा- इनके सदस्य मानव बम की तरह घूम रहे हैं 

अधिकारियों ने बताया कि तीनों को राज्य सरकार के बेलियाघाटा आईडी अस्पताल के पृथक वार्ड में भर्ती कराया गया है. युवक के परिवार के आठ अन्य सदस्यों को राजारहाट स्थित चित्तरंजन अस्पताल के पृथक वार्ड में भर्ती कराया गया है. स्वास्थ्य विभाग के सूत्रों ने बताया कि इन आठ लोगों के परीक्षण की रिपोर्ट का इंतजार है. यह युवक ब्रिटेन में उच्च शिक्षा के लिए गया था और वह 13 मार्च को घर वापस आया था. Also Read - दिल्ली में 445 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित, समुदाय स्तर पर संक्रमण नहीं, लेकिन बढ़ सकते हैं मामले : केजरीवाल

उसमें कोविड-19 के लक्षण दिखने पर गुरुवार को बेलियाघाटा अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उसके दो सहपाठियों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई है. उनमें एक छत्तीसगढ़ का है और दूसरा चंडीगढ़ का है. राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को परीक्षण के लिए 14 नमूने इकट्ठे किये एवं 21 लोगों को अस्पताल में पृथक वार्ड में पहुंचा दिया. Also Read - Covid-19: कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की संख्या बढ़कर 75 हुई, सरकार ने कहा घबराने की जरूरत नहीं

बता दें कि भारत में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर रविवार को 341 पर पहुंच गए. देश के विभिन्न हिस्सों से नए मामले सामने आए हैं. वहीं, देशभर में जनता कर्फ्यू से सन्‍नाटा है, शहर बंद हैं और सड़कें सुनसान पड़ी हुई हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि इन कुल मामलों में 41 विदेशी नागरिक भी शामिल हैं. इनमें से दिल्ली, कर्नाटक तथा महाराष्ट्र से अभी तक चार लोगों की मौत हो चुकी है.