कोलकाता: पश्चिम बंगाल सरकार ने मंत्रियों और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों की एक समिति का गठन किया है जो मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अस्थायी अनुपस्थिति में आपात स्थिति से निपटेगी. सरकार ने एक आदेश जारी कर यह जानकारी दी है. Also Read - डॉक्टर और पुलिस वालों को भी आराम मिले इसलिए शराब की दुकानें खोले सरकार, ब्लैक में तो बिक ही रही हैः ऋषि कपूर

बुधवार शाम को जारी आदेश के मुताबिक, ममता 16 से 28 सितंबर के बीच फैंकफर्ट और मिलान की यात्रा पर जा सकती हैं. आदेश में बताया गया है कि शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी की अध्यक्षता में मंत्रियों के समूह में पंचायत मंत्री सुब्रत मुखर्जी, शहरी विकास मंत्री फिरहाद हाकिम, परिवहन मंत्री सुवेन्धु अधिकारी, पीडब्ल्यूडी मंत्री अरूप बिस्वास के अलावा छह अन्य मंत्रियों को शामिल किया गया है. इसमें बताया गया है कि समिति में अधिकारियों के समूह की अध्यक्षता सिंचाई, जलमार्ग एवं कृषि विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव नवीन प्रकाश करेंगे. Also Read - कंट्री लॉकडाउनः बाहर घूम रहे लोगों पर भड़के ऋषि कपूर, बोले- 'देश में आपातकाल घोषित कर देना चाहिए'

ममता बनर्जी ने कहा, हम बीजेपी की तरह आतंकवादी संगठन नहीं Also Read - भारत-बांग्लादेश के पहले Day-Night टेस्ट मैच को मिले रिकॉर्ड दर्शक, आंकड़े जारी

समिति राज्य में किसी भी आपात स्थिति से निपटेगी
अधिकारियों की समिति में गृह सचिव अत्री भट्टाचार्य, राज्य सुरक्षा सलाहकार सुरजीत कार पुरकायस्थ, राज्य के डीजी वीरेन्द्र, एडीजी (कानून और व्यवस्था) अंजू शर्मा और शहर के पुलिस आयुक्त राजीव कुमार को भी शामिल किया गया है. आदेश में कहा गया है कि मुख्यमंत्री की अस्थायी अनुपस्थिति में मंत्रियों का समूह और अधिकारियों की समिति राज्य में किसी भी आपात स्थिति से निपटेगी. (इनपुट एजेंसी)