नई दिल्लीः हिंदू समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष कमलेश तिवारी के मर्डर के तार अब गुजरात से लेकर महाराष्ट्र तक जुड़े होने की आशंका नजर आ रही है. उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने जानकारी दी है कि हम इस केस के बारे में गुजरात और महाराष्ट्र एटीएस से भी पूछताछ कर रहे हैं. आपको बता दें कि शुक्रवार को कमलेश तिवारी के घर में घुस कर कुछ लोगों ने गला रेत कर उनकी हत्या कर दी थी.

डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि ऐसी उम्मीद है कि इस केस में कुछ जानकारी महाराष्ट्र और गुजरात एटीएस से भी मिलेगी. उन्होंने कहा कि हमने उस महिला से भी बात की है जिसे सीसीटीवी फुटेज में देखा गया था. महाराष्ट्र एटीएस ने नागपुर से एक शख्स को हिरासत में लिया है. सूत्रों के मुताबिक, गुजरात से गिरफ्तार कमलेश तिवारी की हत्या के मास्टरमाइंड रशीद ने नागपुर में मौजूद शख्स को फोन पर हत्या के बाद जानकारी दी थी. शख्स को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.


PDP के वरिष्ठ नेता, दो पूर्व नौकरशाह सहित 500 से अधिक लोग जम्मू में BJP में हुए शामिल

रशीद को इस हत्याकांड का मास्टरमाइंड बताया जा रहा है. हत्या का प्लान दुबई में बनाया गया और सूरत में इसकी तैयारी की गई. बाद में इस प्लान को लखनऊ में अंजाम दिया गया. गुजरात ATS ने सूरत के लिम्बायत इलाके से रशीद, मोहसिन और फैज़ल को गिरफ्तार किया है. रशीद के कराची पकिस्तान के कनेक्शन सामने आए है.

बता दें कि शनिवार को कमलेश तिवारी के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया लेकिन इसके लिए प्रशासन को काफी मशक्कत करनी पड़ी. तिवारी की शुक्रवार को उनके घर में ही गला रेत कर हत्या कर दी गई थी. जिला और पुलिस प्रशासन के अधिकारी परिजनों से शव का अंतिम संस्कार करने के लिए कहते रहे, लेकिन परिवार मुख्यमंत्री को बुलाने की मांग पर अड़ा रहा. लखनऊ मंडल के आयुक्त मुकेश मेश्राम और सीतापुर के डीएम अखिलेश तिवारी की ओर से लिखित आश्वासन के बाद परिवार शनिवार को अंतिम संस्कार करने पर राजी हुआ.