जम्मू: जम्मू कश्मीर में पिछले साल पथराव की घटनाओं में 2019 की तुलना में 87.13 प्रतिशत की कमी आई. पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने यह जानकारी दी. राज्य में 2019 में पथराव की 1,999 घटनाएं सामने आईं, जिनमें से 1,193 घटनाएं केंद्र द्वारा उस साल अगस्त में पूर्ववर्ती जम्मू कश्मीर राज्य के विशेष दर्जे को समाप्त किये जाने की घोषणा के बाद घटीं.Also Read - कब बहाल होगा जम्मू कश्मीर का राज्य का दर्जा? भाजपा बोली- पहले चुन कर की जा रही हत्याएं बंद हों

डीजीपी ने कहा, ‘‘2019 की तुलना में 2020 में पथराव की 255 घटनाएं घटीं और इनमें 87.31 प्रतिशत की गिरावट आई है. इससे पहले 2018 और 2017 में पथराव की क्रमश: 1,458 और 1,412 घटनाएं दर्ज की गयीं. Also Read - Jharkhand: कश्मीरी युवकों पर हमला, धार्मिक नारे दोहराने का दबाव बनाया, कई हिरासत में

अधिकारियों के अनुसार 2016 की पथराव की घटनाओं से तुलना करें तो 2020 में इस तरह की घटनाओं में 90 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गयी है. Also Read - Jammu & Kashmir को 25 नेशनल हाईवे की सौगात देंगे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, आज रखेंगे आधारशिला

(इनपुट भाषा)