केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने मंगलवार को कहा कि नोटबंदी के बाद डिजिटल भुगतान में तेजी से वृद्धि हुई है, जिससे लेनदेन में पारदर्शिता आएगी। प्रसाद ने कहा कि स्वास्थ्य एवं शिक्षा के विकास में मददगार प्रौद्योगिकीय उत्पादों का विकास कर ग्रामीण भारत के लोगों को सशक्त करने की जरूरत है।Also Read - फिर से होगी नोटबंदी! मार्च से बंद हो जाएंगे 100, 10 और 5 रुपए के पुराने नोट, जानिए वजह

प्रसाद यहां एक समारोह में बोल रहे थे, जहां मोबाइल चिप निर्माता शीर्ष कंपनी क्वालकॉम ने भारत में डिजाइन निर्माण को विस्तार देने के लिए 85 लाख डॉलर के निवेश की घोषणा की। क्वालकॉम के अनुसार, यह निवेश ग्रामीण प्रौद्योगिकी, बायोमेट्रिक उपकरणों, भुगतान टर्मिनल और अन्य क्षेत्रों में काम करने वाली कंपनियों के लिए मददगार होगा। Also Read - पीएम मोदी ने गिनाए नोटबंदी के फायदे, कहा- हमारे जितना काम करने में दूसरी सरकार को लगते 25 साल

प्रसाद ने क्वालकॉम से इस अवसर पर पूछा कि ‘क्या वे चिप में इस तरह का नवाचार कर सकते हैं, जो आधार कार्ड में उपयोगी हो’। Also Read - Class ten boy Dropout Defrauded Amazon India of Rs 1.3 Crore | 10वीं फेल कूरियर ब्वॉय ने अमेजन को ऐसे लगाया 1.3 करोड़ का चूना

क्वालकॉम टेक्नोलॉजी लाइसेंसिंग के वरिष्ठ उपाध्यक्ष और महाप्रबंधक जॉन हैन ने पत्रकारों से कहा, “जैसा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षा है, भारत को डिजिटल रूप से सशक्त देश बनाने की, क्वालकॉम भारतीय तंत्र को विकसित करने और ग्राहकों की बढ़ रही विकल्पों की मांग पूरी करने में मदद के लिए प्रतिबद्ध है।”