नई दिल्ली: भारत ने अमेरिकी हमले में ईरान के वरिष्ठ कमांडर के मारे जाने पर आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा है कि मौजूदा तनाव में वृद्धि ने विश्व को चौकन्ना किया है. विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा कि अभी सबपसे महत्वपूर्ण यह है कि स्थिति और अधिक न बिगड़े. भारतीय विदेश मंत्रालय ने ईरानी जनरल के मारे जाने पर आगे कहा कि भारत के लिए क्षेत्र में शांति, स्थिरता और सुरक्षा अत्यंत महत्वपूर्ण है.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आदेश पर किए गए बगदाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के पास हमले में ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आईआरजीसी) के विशिष्ट कुद्स फोर्स के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी की हुई मौत पर भारत ने संयम बर्तने का आह्वान करते हुए शुक्रवार को कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि स्थिति आगे न बढ़े.

विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “हमनी इस पर नजर है कि एक वरिष्ठ ईरानी नेता को अमेरिका द्वारा मार दिया गया है. तनाव में वृद्धि ने दुनिया को चौंकन्ना किया है. इस क्षेत्र में शांति, स्थिरता और सुरक्षा भारत के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है.” उन्होंने कहा, “यह महत्वपूर्ण है कि स्थिति आगे न बढ़े है. भारत ने लगातार संयम बर्तने की वकालत की है और ऐसा करना जारी रखेगा है.”

बता दें कि ईरान के इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड कॉर्प्स (आईआरजीसी) के विशिष्ट कुद्स फोर्स के प्रमुख जनरल कासिम सुलेमानी की हुई मौत से भड़के ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला सैय्यद अली खामेनी ने बदला लेने का संकल्प लिया है. आईआरजीसी ने कहा कि हशद शाबी या इराकी पॉपुलर मोबिलाइजेशन फोर्सेज (पीएमएफ) के डिप्टी कमांडर अबू महदी अल-मुहांदिस भी सुलेमानी के साथ गुरुवार रात अमेरिकी हमले में मारे गए थे. बगदाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट रोड पर उनके वाहन को निशाना बनाया गया.