नई दिल्ली. सरकार ने कहा है कि उसने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से होकर गुजरने वाले ‘चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे’ (सीपीईसी) के मुद्दे को महत्वपूर्ण बहुपक्षीय एवं अंतरराष्ट्रीय मंचों पर पुरजोर ढंग से उठाया है व बीजिंग से पीओके में अपनी गतिविधियां रोकने के लिए कहा गया है. Also Read - कोरोनावायरस पर ट्रंप सरकार की चेतावनी, बढ़ सकता है मरने वालों का आंकड़ा, लॉकडाउन को लेकर किया बड़ा फैसला

विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह ने लोकसभा में मनोज तिवारी और ओमप्रकाश यादव के प्रश्नों के लिखित उत्तर में कहा, ‘सीपीईसी परियोजना जम्मू-कश्मीर के उस हिस्से होकर गुजरती है जो पाकिस्तान के अवैध कब्जे में है. सरकार ने पीओके में चीन की गतिविधियों के बारे में चीनी पक्ष के उच्चतम स्तर पर अपनी चिंताओं से अवगत कराया है और उससे अपनी गतिविधियां रोकने के लिए कहा गया है.’ Also Read - इस रेस्टोरेंट मालिक ने बनाया लजीज कोरोना बर्गर, बोले- 'कुछ डराए तो उसे खा जाएं...'

उन्होंने कहा, ‘सरकार ने ओबीओबार/सीपीईसी के से संबंधित मुद्दों को लेकर बहुपक्षीय एवं अंतरराष्ट्रीय मंचों पर अपना रुख स्पष्ट किया है व यह चिंता जताई है कि यह परियोजना भारत की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता के उल्लंघन है.’ सिंह ने कहा, ‘सरकार भारत की सुरक्षा को प्रभावित करने वाले सभी घटनाक्रमों पर लगातार निगाह रखती है और इसकी सुरक्षा के लिए जरूरी उपाय करती है.’ Also Read - चीन में कोरोना वायरस से तीन और लोगों की मौत, संक्रमण के 54 नए मामले आए सामने