नई दिल्ली: बुधवार को भारत को एक बार फिर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अस्थाई देश चुन लिया गया. यह आठवीं बार ऐसा मौका था जब भारत को सुरक्षा परिषद की अस्थाई सीट मिली है. बुधवार के चुनाव में सबसे खास बात यह थी कि भारत को निर्विरोध चुना गया. अब भारत 2022 तक संयुक्त राष्ट्र की सबसे बड़ी और सर्वोच्च संस्था का सदस्य रहेगा. भारत के अलावा आयरलैंड, मेक्सिको और नार्वे को भी सुरक्षा परिषद में जगह दी गई. Also Read - भारत को मिला अमेरिका का समर्थन, माइक पॉम्पिओ बोले- चीन को भारत ने दिया सही जवाब

अस्थाई सीट के लिए भारत को 192 वोटो में से 184 वोट मिले. सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य बनने के बाद पाकिस्तान की बौखलाहट बढ़ गई है. पाकिस्तान के विदेश मंत्री महमूद कुरैशी कि भारत का चुनाव हमारे लिए चिंता का कारण है क्योंकि भारत हमेशा से ही पाकिस्तान की तरफ से उठने वाले सवालों को इस मंच से नकारता रहा है. कुरैशी ने कहा कि भारत के अस्थाई सदस्य बनने से उनके देश में कोई आफत नहीं आ जाएगी. Also Read - पाकिस्तान ने कहा- कुलभूषण जाधव ने अपील दायर करने से मना किया, भारत ने दावे को बताया ‘स्वांग’

भारत के निर्विरोध चुने जानें पर अमेरिका ने जोरदार तरीके से भारत का स्वागत किया है. अमेरिका ने भारत को बधाई देते हुए कहा कि हम भारत की जीत के लिए बधाई देते हैं. इसके साथ ही अमेरिका ने कहा कि हम भारत के साथ मिलकर विश्व शांति के लिए हमेशा कार्य करते रहेंगे.

बता दें कि 193 सदस्यीय संयुक्त राष्ट्र सभा में सुरक्षा परिषद के अस्थाई सदस्य के अलावा 75वें सत्र के लिए अध्यक्ष और आर्थिक और सामाजिक परिषद के सदस्यों का चुनाव भी किया गया. सुरक्षा परिषद के अस्थाई सीट के लिए हर दो साल में चुनाव कराया जाता है.