नई दिल्ली: भारत चीन सीमा विवाद के बीच दोनों देश एक बार फिर करीब तीन महीने बाद बातचीत करने वाले हैं. दोनों देशों के बीच बातचीत 24 जून को पूर्वी लद्दाख को लेकर आयोजित की जाएगी. इस बैठक में गतिरोध वाले बिंदुओं पर चर्चा की जाएगी और सैनिकों को वापस लिए जाने पर चर्चा की जाएगी. ऐसा माना जा रहा है कि करीब तीन महीने पहले दोनों देशों के बीच राजनयिक स्तर की मीटिंग हुई थी. वहीं 11 दौर तक सैन्य वार्ता का आयोजन किया गया था.Also Read - Encounter in J&K: आर्मी ने कुपवाड़ा में एलओसी के पास दो आतंकवादी मार गिराए

एक सरकारी अधिकारी के मुताबिक भारत चीन सीमा मामलों को लेकर परामर्श एवं समन्वय के लिए स्थापित कार्य तंत्र WMCC के तहत होने वाली बैठक के दौरान पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों की सेनाओं के बीच तनाव कम करने के व्यापक सिद्धांतों पर ध्यान केंद्रित किए जाने की उम्मीद है. बता दें कि इससे पहले 12 मार्च को WMCC के तहत पिछले दौर की वार्ता की गई थी. Also Read - आर्मी ने दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन ग्लेशियर में 19,061 फीट पर सैटेलाइट-आधारित इंटरनेट सेवा एक्टिव की

बता दें कि अप्रैल में 11वें दौर की सैन्य वार्ता में भारत सरकार की तरफ से साफ कहा गया था कि चीनी सेना को LAC के सभी जगहों से अपने सैनिकों को हटाने होंगे. भारत सरकार ने चीनी फौज को गोगरा, हॉट स्प्रिंग तथा डेप्सांग से पीछे हटाए जाने की बात की थी और मई से पूर्व की स्थिति बहाल करने को कहा था. बता दें कि कुछ स्थानों से सेनाओं के वापसी के बावजूद अब भी कुछ क्षेत्रों में गतिरोध कायम है. Also Read - आर्मी ने भविष्य के युद्ध लड़ने के लिए आपात खरीद के लिए घरेलू रक्षा विनिर्माताओं को दिया आमंत्रण