India China Border Dispute: भारत चीन सीमा विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है. हालांकि दोनों देशों के बीच सैन्य और कूटनीतिक दोनों ही स्तर पर सीमा विवाद को सुलझाने का प्रयास किया जा रहा है. लेकिन बार बार चीन की तरफ से हर मुलाकात को ठंडे बस्ते में डाल दिया जा रहा है. इसी बीच भारतीय सेना की सूत्रों की मानें तो भारत और चीन इस मामले को सुलझाने के लिए कोर कमांडर स्तरीय बैठक कर रहे हैं. यह बैठक चुशूल में शुरू हो चुकी है.Also Read - Indian Army Recruitment 2021: भारतीय सेना में बिना परीक्षा बन सकते हैं अधिकारी, बस होनी चाहिए ये योग्यता, 2 लाख मिलेगी सैलरी

गौरतलब है कि यह तीसरी बैठक है. इससे पहले 6 जून को भी सैन्य स्तर की वार्ता आयोजित की गई थी. इसके बाद फिर 22 जून को कोर कमांडर स्तर की वार्ता का आयोजन किया गया था. ऐसे में 6 जून के बाद आयोजित बैठक में तय किया गया था कि चीन अपनी सेना सीमा पर पीछे लेगा लेकिन चीन ने यहां धोखा देने का काम किया. यहां चीनी सैनिकों और भारतीय सैनिकों में 15 जून की रात हिंसक झड़प देखने को मिली. इसमें हमारे 20 जवान शहीद हो गएं. वहीं चीनी सेना के 43 जवानों को क्षति पहुंची. मरने वाले जवानों की संख्या भी इसी संख्या में शामिल है. Also Read - Indian Army ने चीन सीमा के पास पिनाक और समर्च रॉकेट लॉन्चर पहुंचाए; देखें जबरदस्त Video

Also Read - भारतीय सेना की तवांग में चीनी टैंकों को नेस्तनाबूद करने की ट्रेनिंग; देखें Video

वहीं 22 जून को दोबारा हुए बैठक में भी तय किया गया कि चीन अपनी सेना को पीछे लेगा. लेकिन इसबार भी चीन ने अपनी सेना को पीछे नहीं लिया. वहीं इस बीच अब भारत सरकार ने चीन को आर्थिक मोर्चे पर भी घेरने की योजना बना ली है. इसी कड़ी में चीन के 59 मोबाइल ऐप्स को सरकार द्वारा भारत में बैन कर दिया गया है.