नई दिल्ली: सीमा पर भारत चीन सीमा विवाद के बीच भारत को जल्द ही राफेल विमान की एक खेप मिलने वाली है. हालांकि भारतीय वायुसेना अब राफेल को और भी खतरनाक बनाने में जुट चुकी है. क्योकि भारतीय वायु फ्रांस से खरीदे जाने वाली राफेल विमान में हैमर मिसाइल भी लगाने की तैयारी में लगी हुई है. इस मिसाइल की खासियत यह है कि यह किसी तरह के टार्गेट को 60-70 किमी के बीच ध्वस्त कर सकता है. Also Read - IPL 2020: 'चीनी प्रायोजक जारी रखकर BCCI ने देश का अपमान किया'

वायुसेना द्वारा इस प्रक्रिया को इमरजेंसी पावर फॉर एक्वीजीशन गिवेन के तहत कर रही है. इस आदेश के अनुसार रक्षा मंत्रालय के डीएसी विभाग द्वारा भारतीय सेना को यह अधिकार दिया गया है कि वह अपातकालीन हालात में 300 करोड़ के तहत हथियार को तुरंत खरीद सकती है. Also Read - भारत को धर्मनिरपेक्षता जैसी 'पश्चिमी' अवधारणाओं की जरूरत नहीं: केएन गोविंदाचार्य

हैमर मिसाइल के ऑर्डर को लेकर फ्रांस की कंपनी ने भी मंजूरी दे दी है. फ्रांस की कंपनी जल्द ही अब राफेल विमान में हैमर मिसाइल को लगाने की तैयारी में लग चुकी है. इसलिए भारतीय सेना को वह जल्द ही हैमर मिसाइल उपलब्ध करवाएगी. बता दें कि हैमर मिसाइल एक मध्यम दूरी मार करने वाली मिसाइल है. हैमर मिसाइल के राफेल में लैस हो जाने के बाद दुश्मन के बंकरों को आसानी से निशाना बनाया जा सकता है, चाहे वह बंकर कितने ही मजबूत क्यों न हों. इसका इस्तेमाल पहाड़ी इलाको जैसे पूर्वी लद्दाख में आसानी से किया जा सकाता है.