India China ladakh Tension: लद्दाख बॉर्डर मामले पर भारत और चीन के बीच इस समय भारी तनाव चल रहा है. दोनों ही देश अपने अपने क्षेत्र में भारी मात्रा में सैनिकों की तैनाती कर रहे हैं. दोनों ही देशों की तरफ से इस मामले को सुलझाने के लिए डिप्लोमैटिक और सैन्य स्तर पर बातचीत चल रही है. इसी बीच भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक ट्वीट सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहा है. Also Read - India-China Border Issue: NSA अजित डोभाल ने संभाला मोर्चा तो पीछे हटी चीनी सेना! कल चीन के विदेश मंत्री से की थी बात

पीएम मोदी का यह ट्वीट उस समय का है जब वे गुजरात राज्य के मुख्यमंत्री थे. उन्होंने यह ट्वीट 2013 में किया था. इस ट्वीट में उन्होंने केंद्र की यूपीए सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा था कि आखिर पाकिस्तान और चीन द्वारा भारतीय सीमाओं में घात लगाने के मामले में यूपिए सरकार कब जागेगी. Also Read - Effect of TikTok Ban in India: भारत में TikTok बैन से चाइनीज कंपनी को बड़ा झटका, करीब 6 अरब डॉलर के नुकसान का अनुमान

हालांकि आज जो हालात हैं उसमें सरकार की तरफ से कई बार यह बयान दिया जा चुका है कि देश सुरक्षित हाथों में है. हाल ही में गृह मंत्री अमित शाह ने भी कहा था कि भारत सरकार किसी भी सूरत में अपनी सीमाओं के साथ किसी भी तरह का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं करेगी. Also Read - आस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री का बड़ा बयान, बोले-उनकी सरकार हांगकांग के निवासियों को पनाह देने के लिए विचार कर रही

लोग लगातार इस ट्वीट को वायरल कर के मांग कर रहे हैं कि सरकार को चीन के संबंध में कुछ कड़े कदम उठाने की जरूरत है. इस पूरे मुद्दे पर एक चैनल से बात करते हुए अमित शाह ने कहा था कि सरकार किसी भी हाल में इसे हल्के में नहीं ले रही है. हम राजनैतिक और सैन्य दोनों स्तर पर बात कर रहे हैं.

गृह मंत्री अमित शाह ने यह भी स्पष्ट तौर पर कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार भारतीय सीमाओं को लेकर किसी भी तरह का समझौता नहीं करेगी और देश पूरी तरह से सुरक्षित है और हम पूरी तरह से अपने देश की सीमाओं को लेकर प्रतिबद्ध हैं.