भारतीय वायुसेना (Indian Airforce) की ताकत और बढ़ने वाली है. 83 तेजस लड़ाकू विमानों (Tejas Light Combat Aircraft) की खरीद को सरकार की मंजूरी मिल गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक में वायुसेना के लिए 73 हल्के लड़ाकू विमान तेजस MK-1A तथा 10 तेजस MK-1 ट्रेनर विमानों की खरीद को मंजूरी दे दी गई.Also Read - Indian Railways: राजधानी और शताब्दी में फिर से ले सकेंगे जायकेदार खाने का मजा, जानें - कब से शुरू हो रही है सुविधा?

Also Read - भारतीय वायुसेना की टुकड़ी 14 नवंबर से दुबई एयर शो में हिस्सा लेगी, एरोबेटिक्स और स्टैटिक डिस्प्ले का हिस्सा होगा LCA तेजस

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने  बताया कि सुरक्षा मामलों पर मंत्रिमंडल समिति ने करीब 48,000 करोड़ रुपये की लागत से तेजस विमान खरीदने को मंजूरी दी है. Also Read - Heavy Rains in Kerala: 5 जिलों में रेड अलर्ट, लैंडस्‍लाइड में 12 लोग लापता, बाढ़ से एक की मौत, एयरफोर्स से मांगी मदद

राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की अध्यक्षता में हुई सुरक्षा मामलों पर मंत्रिमंडल समिति (CCS) की बैठक में यह फैसला किया गया. यह सौदा भारतीय रक्षा विनिर्माण के क्षेत्र में आत्मनिर्भरता के लिये गेम चेंजर होगा.’ उन्होंने कहा कि घरेलू स्तर पर तैयार किये जाने वाले एलसीए तेजस से जुड़ी इस खरीद पर लागत करीब 48000 करोड़ रुपये आएगी.

रक्षा मंत्रालय के बयान के अनुसार, मंत्रिमंडल ने हिन्दुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) से भारतीय वायु सेना के लिये 83 तेजस विमान खरीदने को मंजूरी प्रदान कर दी. इसके तहत 73 हल्के लड़ाकू विमान तेजस एमके-1ए और 10 तेजस एमके-1 प्रशिक्षण विमान शामिल हैं. हल्का लड़ाकू विमान एमके-1ए का डिजाइन एवं विकास स्वदेशी स्तर पर किया गया है और यह चौथी पीढ़ी के लड़ाकू विमान से जुड़े अत्याधुनिक उपकरणों से सुसज्जित है.

(इनपुट: एजेंसी)