नई दिल्ली: भारत अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों के संचालन की बहाली के मद्देनजर प्रत्येक देश के विमानों को अनुमति देने के लिए अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी और फ्रांस के साथ ‘द्विपक्षीय समझौता’ करने पर विचार कर रहा है. नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने मंगलवार को यह जानकारी दी.Also Read - तीनों फॉर्मेट में आसानी से ढलने की क्षमता जसप्रीत बुमराह को बेहतरीन गेंदबाज बनाती है: एलेन डोनाल्ड

अमेरिका के परिवहन विभाग ने सोमवार को घोषणा की थी कि उसकी बिना मंजूरी के भारत और अमेरिका के बीच 22 जुलाई से एअर इंडिया की चार्टर्ड उडानों के संचालन पर रोक लगा दी गई है. भारत सरकार की ओर से दोनों देशों के बीच अमेरिकी विमानों के संचालन की अनुमति नहीं दिए जाने की जवाबी प्रतिक्रिया के तहत ये फैसला लिया गया, जिसके बाद मंत्रालय का यह बयान आया है. Also Read - IND vs SA, 1st ODI: बतौर वनडे कप्तान मैदान पर उतरे KL Rahul, सिर्फ भारतीय ही कर सके ऐसा

नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने कहा, ‘ जैसा कि हम मांग के मुताबिक, उड़ान बहाली पर चिंतन कर रहे हैं, हम भारत-अमेरिका, भारत-फ्रांस, भारत-जर्मनी, भारत-ब्रिटेन के साथ व्यक्तिगत तौर पर द्विपक्षीय समझौता करने की संभावना पर विचार कर रहे हैं. ये सभी ऐसे गंतव्य हैं जहां यात्रा की मांग कम नहीं हुई है. बातचीत के लिए अंतिम निर्णय जल्द ही लिए जाने की उम्मीद है.’ Also Read - IND vs SA, 1st ODI: बतौर अंपायर Marais Erasmus जड़ेंगे 'अनूठा शतक', इस मामले में बनेंगे नंबर-3

उन्होंने कहा कि कई देशों से विमान सेवाओं के संचालन की अनुमति दिए जाने के संबंध में निवेदन मिले हैं और इन पर विचार किया जा रहा है.

(इनपुट भाषा)