इस्लामाबाद. पाकिस्तान के गृह मंत्री अहसान इकबाल ने हदें लांघ दी हैं. भारत पर सनसनीखेज आरोप लगाते हुए इकबाल ने कहा कि कि कराची में चीन के एक नागरिक की निशाना बनाकर हत्या में भारत शामिल हो सकता है.Also Read - पाकिस्तान के खिलाफ प्लेइंग इलेवन चुनने में टीम इंडिया से हुई दो बड़ी गलतियां; पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर ने कही ये बात

इकबाल ने कहा कि पाकिस्तान ने चीन के नागरिकों की रक्षा के लिए दस हजार जवानों का एक मजबूत बल बनाया है लेकिन चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे परियोजनाओं से बेवजह चिंतित भारत पाकिस्तान में एक शिपिंग फर्म के 46 साल के प्रबंध निदेशक की हत्या में शामिल हो सकता है. Also Read - भारत से विदा हुआ दक्षिण-पश्चिमी मॉनसून, 1975 के बाद 7वीं बार सबसे देर से हुई रवानगी

चीन के नागरिक चेन झू की कराची में अज्ञात बंदूकधारियों ने सोमवार को गोली मारकर हत्या कर दी थी. पाकिस्तानी मीडिया में आई रिपोर्ट्स के मुताबिक मिनिस्टर इकबाल ने कहा है कि पाकिस्तान ने चीनी नागरिकों की सुरक्षा के लिए 10,000 सुरक्षा कर्मी तैनात किए हैं. Also Read - IND vs PAK, T20 World Cup 2021: Jasprit Bumrah के पास 'गोल्डन चांस', इतिहास रचने की दहलीज पर

उन्होंने भारत पर झूठे आरोप मढ़ते हुए पाकिस्तान के मंत्री अहसान इकबाल ने कहा कि भारत की तरफ से चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे में अप्रत्याशित दिलचस्पी ली जा रही है. बता दें कि बीते सोमवार को कराची में एक बंदूकधारी ने चीनी मूल के शिपिंग फर्म के एमडी शेन झू की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में अहसान ने फर्जी आरोप लगाते हुए कहा कि भारतीय कैदी कुलभूषण जाधव ने भी स्वीकार किया है कि भारतीय खुफिया एजेंसियां चाइना-पाक इकनॉमिक कॉरिडोर को नुकसान पहुंचाने के लिए सक्रिय हैं. एक पाकिस्तानी अखबार से बाततीत में इकबाल ने कहा कि हमारे पड़ोसी देशों के प्रतिनिधि कई बार कह चुके हैं कि हम पाकिस्तान और चीन के बीच कारोबार बढ़ने के खिलाफ हैं.