नई दिल्ली: भारत ने अपना विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य अरब सागर में तैनात किया है. भारत ने यह कदम ऐसे समय उठाया है जब चीन और पाकिस्तान उस क्षेत्र में नौ दिवसीय नौसैनिक अभ्यास कर रहे हैं. माना जा रहा है कि इस कदम के जरिए भारत ने अपने दोनों पड़ोसियों को संकेत दिया है. Also Read - China Defense Budget 2021: चीन का रक्षा बजट पहली बार 200 अरब डॉलर के पार, भारत से तीन गुना ज्‍यादा

सैन्य सूत्रों ने बताया कि जब पोत को सामरिक मिशन पर तैनात किया गया, नौसेना मुख्यालय के शीर्ष अधिकारी पोत पर सवार थे. पाकिस्तान और चीन का नौसेना अभ्यास सोमवार को उत्तरी अरब सागर में शुरू हुआ था. इसका मकसद दोनों देशों के बीच सहयोग बढ़ाना है. कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव के बीच ‘सी गार्जियन’ अभ्यास हो रहा है. Also Read - US ने एलओसी के जरिए आतंकवादियों की घुसपैठ की कोशिशों की निंदा की

INS विक्रमादित्य पर तैनात हैं MIG-29K युद्धक विमान तैनात
सूत्रों ने बताया कि विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रमादित्य को सामरिक उद्देश्य के साथ भेजा गया है और उस पर मिग 29के युद्धक विमान तैनात हैं. चीन पाकिस्तान में ग्वादर बंदरगाह को विकसित कर रहा है और इस क्षेत्र में अपनी सैन्य उपस्थिति बढ़ा रहा है जिससे भारत में चिंता बढ़ रही है. Also Read - COVID-19: देश में 24 घंटे में 16,838 नए मामले आए, 113 मरीजों की हुई मौत