नई दिल्ली: विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि भारत ने कोरोना वायरस से प्रभावित चीन से 640 भारतीयों को निकाला है
और जटिल अभियान को बीजिंग की मदद से चलाया गया. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि इन भारतीयों के अलावा, 10 अन्य भारतीयों ने संकेत दिया कि वे चीन से वापस आने चाहते हैं, लेकिन वे कोरोना वायरस जांच में विफल रहे.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता कुमार ने कहा, ”हम उनके साथ लगातार संपर्क में हैं और उनकी वापसी के लिए सभी संभावनाएं
तलाश रहे हैं.” उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण चीनी से आने वाले लोगों को जारी सामान्य वीज़ा और
सभी वर्तमान ई वीज़ा को स्थगित कर दिया गया है.”

MEA के स्‍पोकपर्सन ने कहा रवीश कुमार, चीन में पाकिस्तानी छात्रों भारत से मदद मांगी थी. हमें इसके बारे में पाकिस्तान सरकार से कोई अनुरोध नहीं मिला है. लेकिन अगर ऐसी स्थिति पैदा होती है और हमारे पास संसाधन हैं तो हम इस पर विचार करेंगे.

विदेश मंत्रालय प्रवक्‍ता रवीश कुमार ने कहा, मुझे भारत और चीन के बीच किसी भी वाणिज्यिक उड़ान के संचालन पर भारत सरकार द्वारा लगाए गए किसी प्रतिबंध की जानकारी नहीं है. एयरलाइंस अपने स्वयं के आंकलन के आधार पर निर्णय लेने के लिए स्वतंत्र हैं.

रवीश कुमार ने भारत की यात्राओं की कुछ श्रेणियों के लिए ई-वीजा उपलब्ध है; राजनयिक उस श्रेणी में नहीं आते हैं. दूतावास में एक राजनयिक वीजा लगाया जाता है. इसलिए, यह राजनयिक प्रक्रिया को प्रभावित नहीं कर सकता है.