नई दिल्ली. भारत और अमेरिका के संबंधों को और बेहतर बनाने के दृष्टिकोण से भारत ने 2019 गणतंत्र दिवस परेड में डॉनल्ड ट्रंप को मुख्य अतिथि बनने का न्यौता दिया है. अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक, भारत को इस न्यौता पर अमेरिका की तरफ से आधिकारिक जवाब का इंतजार है. रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ने यह न्यौता इसी साल अप्रैल महीने में भेजा था. Also Read - अंतरराष्ट्रीय डेब्यू के बाद पहली बार बिना वनडे शतक के खत्म होगा विराट कोहली का साल

बता दें कि यह पहला मौका नहीं है, जिसमें मोदी सरकार में कोई अमेरिकी प्रधानमंत्री गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बना हो. इससे पहले साल 2015 में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा मुख्य अतिथि थे. Also Read - China-India Tension: चीन बनाएगा ब्रह्मपुत्र नदी पर बांध, भारत भी बांध बनाकर देगा करारा जवाब

हाल के दिनों में ईरान के साथ देश के ऊर्जा संबंधित कई रिश्तों पर अमेरिका ने ऐतराज जताया है. वहीं, दूसरी तरफ भारत और रूस के साथ S-400 मिसाइल का रक्षा समझौता भी अमेरिका के लिए चिंतित करने वाला रहा है. ट्रंप प्रशासन ने पहले ही ऐसे देशों को चेतावनी दे रखी है, जो ईरान से कच्च तेल का आयात कर रहे हैं. ऐसे में देखना है कि इस न्यौता पर अमेरिका की तरफ से कैसी प्रतिक्रिया आती है. Also Read - Donald Trump की बेटी Ivanka Trump ने PM मोदी के साथ की तस्वीरें शेयर कीं, लिखी ये बात...

इससे पहले गणतंत्र दिवस पर ASEAN देश के 10 नेता शामिल हुए थे. इसमें थाइलैंड, वियतनाम, मलेशिया, फिलिपिंस, सिंगापुर, म्यांमार, कंबोडिया, लाओस और ब्रुएनी शामिल थे.