नई दिल्ली: विवादों के बीच भारत अपने सबसे पड़ोसी देश नेपाल में स्कूल बनवाने जा रहा है. भारत नेपाल में 56 स्कूल बनवाने जा रहा है. ये स्कूल नेपाल के सात जिलों में होंगे. स्कूल बनवाने के लिए भारत और नेपाल के बीच समझौता हो गया है. Also Read - India Coronavirus live Update: कोरोना से मचा कोहराम, टूटे सारे रिकॉर्ड, 24 घंटे में सामने आए सर्वाधिक 27 हजार से अधिक मामले, पढें रिपोर्ट्स

भारतीय मिशन नेपाल के अनुसार, दोनों देशों के बीच आज स्कूल बनवाने का समझौता हुआ है. 56 स्कूल फिर से बनवाए जाने हैं. ये 56 स्कूल हायर सेकेंडरी होंगे. नेपाल में शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए भारत ने ये कदम उठाया है. दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच इसके लिए समझौते पर हस्ताक्षर भी हो गए हैं. Also Read - कोरोना वायरस: राहुल गांधी ने कहा- देश भर में रद्द हों परीक्षाएं, पिछला प्रदर्शन देखकर छात्रों को पास कर दें

बता दें कि पिछले कई दिनों से भारत और नेपाल के बीच तनातनी है. ये पहला मौका था जब भारत और नेपाल के बीच सीमा विवाद इतना बढ़ गया. नेपाल में भारत के खिलाफ काफी विरोध प्रदर्शन हुए. सीमा विवाद के चलते नेपाल की सरकार ने भी कई ऐसे बयान दिए, जिनमें खटास थी. दोनों देशों ने विवादों को बातचीत से सुलझाने की कोशिश की है. भारत और नेपाल के बीच रिश्ते बेहद बेहतर रहे हैं. नेपाल से भारत और भारत से नेपाल आने-जाने के लिए किसी तरह के वीजा और पासपोर्ट की ज़रूरत नहीं पड़ती है. सीमावर्ती इलाकों में लोग सीमा के इधर उधर खेती करते हैं.