वाशिंगटन. भारत ने ट्रंप प्रशासन से आग्रह किया कि वह उसके लिए अमेरिका की तरजीही कार्यक्रम की सामान्यीकृत प्रणाली (जीएसपी) के तहत लाभार्थी का दर्जा कायम रखे. भारत का कहना है कि अगर उसके लिए इस दर्जे को वापस लिया जाता है तो यह ‘भेदभावपूर्ण’ होगा. साथ ही इसका प्रतिकूल असर उसकी विकास, वित्त और व्यापार जरूरतों पर पड़ेगा.

यहां भारतीय दूतावास में वरिष्ठ अधिकारी पुनीत राय कुंडल ने कहा, ‘हम राष्ट्रपति (डोनाल्ड ट्रंप) से भारत को जीएसपी लाभार्थी का दर्जा बनाए रखने का आग्रह करते हैं.’ अमेरिका अपनी इस व्यवस्था के तहत लाभार्थी विकासशील देशों को आयात के समय विशेष वरीयता देता है.

हो रही है समीक्षा
अमेरिका व्यापार प्रतिनिधि (यूएसटीआर) की तरफ से जीएसपी कार्यक्रम के तहत लाभार्थी देशों की समीक्षा की जा रही है. इसमें इस बात पर गौर किया जा रहा है कि क्या भारत जीएसपी लाभार्थी के तौर पर अमेरिकी मानदंडों को पूरा करता है. ऐसा करते समय इस बात पर भी गौर किया जा रहा है कि क्या भारत अमेरिका के उत्पादों को तर्कसंगत और उचित बाजार पहुंच उपलब्ध कराता है अथवा नहीं.