भुवनेश्वर/ बालासोर (ओडिशा): भारत ने पहली बार देश में ही डिजाइन की गई और फिर विकसित की गई लंबी दूरी की सब-सोनिक क्रूज मिसाइल ‘निर्भय’ का यहां ओडिशा के एक परीक्षण केंद्र से सोमवार को सफल परीक्षण किया. इससे पहले ‘निर्भय’ क्रूज मिसाइल का अंतिम सफल परीक्षण सात नवंबर, 2017 को किया था. रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के सूत्रों ने बताया कि इस अत्याधुनिक मिसाइल का इस्तेमाल कहीं से भी किया जाता है. दोपहर 11 बजकर 44 मिनट पर चांदीपुर के इंटिग्रेटेड टेस्ट रेंज (आईटीआर) के प्रक्षेपण परिसर-3 से इसका प्रक्षेपण किया गया.Also Read - India vs England, 5th Test: खुशखबरी! साल 2022 में इस मैदान पर खेला जाएगा भारत-इंग्लैंड के बीच 5वां टेस्ट

जानकार सूत्रों ने बताया कि 1,000 किलोमीटर दूरी तक निशाना साधने में सक्षम मिसाइल को बालासोर जिले के चांदीपुर में इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज (आईटीआर) से लॉन्च पैड से छोटी दूरी के लिए दागा गया. सूत्रों ने बताया कि रक्षा अनुसंधान विकास संगठन (डीआरडीओ) द्वारा स्वदेश में विकसित की गई निर्भय मिसाइल 300 किलोग्राम तक के वॉरहेड ले जा सकती है. Also Read - कौन हैं स्नेहा दुबे? UNGA में इमरान खान को जमकर लगाई फटकार, दुनिया के सामने खोलकर रख दी पाकिस्तान की पोल

यह एक टर्बोफैन या टबोर्जेट इंजन के साथ यात्रा कर सकती है और एक अत्यधिक उन्नत इर्नशियल नेविगेशन प्रणाली द्वारा निर्देशित है. इस मिसाइल का आखिरी सफल परीक्षण नवंबर 2017 में हुआ था. यह प्रक्षेपण सफल रहा. जांच के दौरान इस मिशन के सारे उद्देश्य पूरे हो गए. इस मिसाइल में एक इंजन है. Also Read - UNGC में भारत ने पाक के कश्‍मीर राग अलापने और गिलानी को शहीद को बताने पर किया पलटवार