नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने गुरुवार को एक कैबिनेट मिटिंग में करतारपुर कॉरिडोर को मंजूरी दे दी है. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि हम लोग इस कॉरिडोर के संबंध में पाकिस्तान से बात करेंगे. अपनी ओर से जोर-शोर से बातचीत की जाएगी. हालांकि, पूरा कार्यक्षेत्र पड़ोसी मुल्क में है, ऐसे में वह क्या करता है, इसे देखा जाएगा. यह फैसला आते ही पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि यह फैसला दोनों देशों के बीच शांति का संदेश देगा. वहीं, केंद्रीयमंत्री हरसिमरत कौर ने ट्वीट कर कहा कि अकाली दल की अपील पर केंद्र सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर को बनाने का फैसला लिया है. उन्होंने इसके लिए मोदी सरकार को धन्यवाद दिया है. Also Read - अमरिंदर सिंह का पुलिस को समर्थन, करतारपुर के कुछ श्रद्धालुओं से हो रही है पूछताछ

केंद्र सरकार का ये फैसला गुरु नानकदेव के 550वें प्रकाश पर्व के एक दिन पहले हुआ है. वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि इस पर होने वाले खर्च को केंद्र सरकार वहन करेगी. बता दें कि करतारपुर साहिब गुरुद्वारा पाकिस्तान में है. यह सिखों का पवित्र गुरुद्वारा है. पाकिस्तान वहां भारतीयों को जाने की इजाजत नहीं देता है. ऐसे में हजारों लोग दूरबीन से करतारपुर साहब का दर्शन करते हैं. Also Read - केंद्रीय मंत्री हरसिमरत बोलीं- पीड़िता की उम्र जितनी हो उतने महीने में बलात्कार मामलों में फैसला सुनाया जाए

18 साल करतारपुर में रहे गुरुनानक देव
जेटली ने कहा कि गुरुनानक देवजी ने अपने जीवन के 18 साल करतारपुर में ही बिताए. यह पाकिस्तान में है. यहां हर साल हजारों श्रद्धालु जाते हैं. भारती की सीमा पर भी खड़े होकर लोग इनके दर्शन करते हैं. उन्होंने कहा कि गुरुदासपुर में स्थित डेरा बाबा नानक से लेकर अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर तक एक करतारपुर कॉरिडोर बनाया जाएगा. यह तीन किमी लंबा होगा. इसपर आने वाले खर्च को भारत सरकार उठाएगा. यहां वीजा और कस्टम की सुविधा मिलेगी. Also Read - 'करतारपुर साहिब के लिए आवेदन करने वाले श्रद्धालुओं से नहीं लिया जा रहा सुविधा शुल्क'

हेरिटेज टाउन की सौगात
वहीं, जेटली ने गुरुनानक देव के जन्म से संबंधित सुल्तानपुर लोधी को भी हेरिटेज टाउन बनाने की घोषणा की है. उसे भी स्मार्ट सिटी के तर्ज पर विकसित किया जाएगा. वहीं, पिंड बाबा के नाम से हेरिटेज कॉम्प्लेक्स भी बनाया जाएगा. दादरा और नगर हवेली के सिलवासा में मेडिकल कॉलेज बनाया जाएगा.