नई दिल्ली: भारत वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण के तहत 15 मई से मध्य एशिया के साथ ही विभिन्न यूरोपीय देशों में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाएगा. आधिकारिक सूत्रों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. Also Read - पूर्वी लद्दाख में और बढ़ेगा तनाव! भारत, चीन ने अपने अड्डों पर भारी उपकरण और हथियार प्रणाली पहुंचाए

उन्होंने कहा कि भारत अगले सप्ताह अपने इस मिशन का विस्तार करेगा ताकि कजाकस्तान, उज्बेकिस्तान, रूस, जर्मनी, स्पेन और थाईलैंड सहित विभिन्न देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया जा सके. Also Read - भारत के साथ सीमा गतिरोध के बीच नेपाल सरकार ने संसद में संविधान संशोधन विधेयक पेश किया

उन्होंने बताया कि मिशन के पहले चरण में सात मई से 15 मई के बीच 12 देशों से लगभग 15,000 लोगों की वापसी होगी. इसके लिए 64 उड़ानों का संचालन होगा. सूत्रों ने बताया कि भारतीय नौसेना का पोत आईएनएस जलश्व लगभग 700 लोगों के साथ शुक्रवार दोपहर माले से कोच्चि के लिए रवाना हुआ. Also Read - ट्रम्प ने जी-7 सम्मेलन टाला, भारत समेत अन्य देशों को करना चाहते हैं शामिल

(इनपुट भाषा)