Parliament Monsoon Session: कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम (P Chidambaram) ने केंद्र सरकार पर एक बार फिर हमला बोला. चिदंबरम ने कहा कि भारत एक ऐसा अनूठा संसदीय लोकतंत्र है जहां कोई प्रश्न नहीं पूछा जाता है और कोई बहस नहीं होती है. लद्दाख में जारी गतिरोध के मुद्दे पर लोकसभा (Lok Sabha) में पार्टी को नहीं बोलने देने के बाद चिदंबरम (P Chidambaram) ने यह टिप्पणी की. पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ सीमा पर जारी गतिरोध पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) के बयान देने के बाद कांग्रेस को बोलने की अनुमति नहीं दिए जाने से नाराज कांग्रेस के सदस्यों ने लोकसभा वॉकआउट किया और संसद भवन परिसर में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने एकत्र होकर विरोध-प्रदर्शन किया. Also Read - अमित शाह से मिले हरियाणा के सीएम खट्टर, नए कृषि कानून और किसानों के मुद्दों पर चर्चा की

चिदंबरम ने ट्वीट किया, ‘आज भारत एक ऐसा अनूठा संसदीय लोकतंत्र है जहां कोई प्रश्न नहीं पूछा जाता सकता है और जहां बहस की अनुमति नहीं है.’ उन्होंने लॉकडाउन के दौरान जान गंवाने वाले प्रवासियों का आंकड़ा उपलब्ध नहीं होने के केंद्र सरकार के बयान पर भी हमला किया.

वरिष्ठ नेता ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, ‘आज भारत एक ऐसा अनूठा देश है जहां लंबी दूरी तय करके अपने घरों को जाने वाले प्रवासियों की मौत या घर पहुंचने के बाद हुई उनकी मौत का कोई आंकड़ा उपलब्ध नहीं है.’ पूर्व वित्त मंत्री ने सरकार को देश की आर्थिक हालात के लिए भी निशाने पर लिया.

चिदंबरम ने ट्वीट कर कहा, ‘भारत आज एक अनोखी अर्थव्यवस्था है जहां जीडीपी के 1.7 प्रतिशत तक नकद या अनाज हस्तांतरण को ‘पर्याप्त राजकोषीय प्रोत्साहन’ माना जाता है. भारत आज एक चमत्कारिक राष्ट्र है, जहां 3 महीने में ‘सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था’ से ‘सबसे तेजी से डूबती विकास’ वाली अर्थव्यवस्था में बदल गई है.

(इनपुट: भाषा)