नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव में एक साल से भी कम समय बचा है. बीजेपी की ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही एक बार फिर पीएम पद के उम्मीदवार होंगे. विपक्ष की ओर से प्रधानमंत्री का चेहरा कौन होगा और मोदी को फिर से सत्ता में आने से कौन रोकेगा इसे लेकर कोई साफ तस्वीर नजर नहीं आती. विपक्ष में पीएम पद के कई दावेदार हैं. इनमें ममता बनर्जी, मायावती, शरद पवार से लेकर कई नेताओं के नाम समय-समय पर सामने आते रहे हैं. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी खुद को पीएम पद का उम्मीदवार बता चुके हैं. कर्नाटक के विधानसभा चुनाव में एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा था कि अगर कांग्रेस के पास सरकार बनाने के लिए पर्याप्त सीटें आती हैं तो वह पीएम बनने को तैयार हैं.

यूपी के सीएम योगी ने दी ईद-उल-अजहा (बकरीद) पर प्रदेशवासियों को बधाई, अखिलेश ने भी किया ट्वीट

राहुल गांधी की पीएम पर दी दावेदारी पर लगभग 46 प्रतिशत लोगों ने मुहर लगाई है. इंडिया टुडे-कार्वी इनसाइट्स के मूड ऑफ द नेशन सर्वे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकल्प के रूप में राहुल गांधी को 46 प्रतिशत लोगों ने चुना है. जुलाई में हुए इस सर्वे में राहुल गांधी की लोकप्रियता बढ़ी है. 46 फीसदी लोगों का मानना है कि राहुल गांधी पीएम मोदी का विकल्प हो सकते हैं. इस सर्वे में 8 प्रतिशत लोगों ने ममता बनर्जी को जबकि 6 प्रतिशत लोगों ने पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस के सीनियर नेता पी चिदंबर को चुना. वहीं 6 प्रतिशत लोगों ने प्रियंका गांधी के नाम पर भी मुहर लगाई.

जम्मू-कश्मीर में बीजेपी कार्यकर्ता को घर में घुसकर आंतकियों ने मारी गोली

सर्वे की बात करें तो जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आ रहा है राहुल गांधी की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है. फरवरी 2016 में 32 फीसदी लोगों ने राहुल को पहली पसंद बताया था. हालांकि अगस्त 2016 में यह घटकर 23 हो गया. जनवरी में ग्राफ थोड़ा बढ़ा और यह 28 फीसदी हो गया. जनवरी 2018 में 45 फीसदी लोगों ने राहुल को पहली पसंद बताया. अब जुलाई में एक प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है और 46 फीसदी लोगों का मानना है कि राहुल मोदी का विकल्प हो सकते हैं.

3 घंटे 35 नावों से चला सर्च ऑपरेशन रहा था नाकामयाब, 7 घंटे समुद्र में तैरकर यूं बचाई जान

हालांकि नरेंद्र मोदी अब भी 49 प्रतिशत लोगों की पसंद के साथ प्रधानमंत्री पद के सबसे लोकप्रिय उम्मीदवार बने हुए हैं. यह सर्वे 12100 लोगों पर किया गया है. नरेंद्र मोदी के विकल्प के तौर पर 45 प्रतिशत हिन्दुओं और 47 प्रतिशत मुसलमानों और अन्य समुदाय के 52 प्रतिशत लोगों ने राहुल गांधी को चुना. देश के उत्तरी हिस्से में राहुल को 36, पूर्वी प्रदेश में 42, दक्षिण में 56 और पश्चिम में 52 प्रतिशत लोगों ने राहुल को पीएम मोदी के विकल्प के रूप में चुना.