नई दिल्ली: इस समय पूरी दुनिया मे कोरोना के सबसे ज्यादा मामले भारत में ही आ रहे हैं. अगर पिछले दस दिनों के आंकड़े पर नजर डाले तो भारत कोरोना के मामले में सबसे आगे हैं. जिन देशों में संक्रमण के शुरुआती दिनों में कोरोना से बुरे हालात बने हुए थे आज वहां संक्रमण ग्राफ में तेजी से गिरावट आ चुकी है लेकिन भारत के हालात उतनी ही तेजी से बुरे होते जा रहे हैं. भारत में मात्र 13 दिनों में कोविड-19 मरीजों की संख्या 30 लाख से 40 लाख के पार पहुंच गई, जिनमें से शनिवार को दर्ज 86,432 नए मामले भी शामिल हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, शनिवार तक 31,07,223 मरीज ठीक हुए हैं, जिसके साथ कोविड-19 मरीजों की ठीक होने की दर बढ़कर 77.23 प्रतिशत हो गई है. Also Read - Covid 19 Vaccine: वैक्सीन निर्माण के फेज-3 में पहुंची यह कंपनी, 60,000 लोगों पर किया जाएगा ट्रायल

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शनिवार सुबह आठ बजे अद्यतन किए गए आंकड़ों के मुताबिक देश में कुल कोविड-19 मरीजों की संख्या बढ़कर 40,23,179 हो गई है. मंत्रालय के मुताबिक पिछले 24 घंटे में 1,089 मरीजों की मौत हुई है, जिन्हें मिलाकर अबतक देश में कुल 69,561 संक्रमितों की मौत हो चुकी है. Also Read - देश के ये 60 जिले कोरोना से बुरी तरह प्रभावित, पीएम नरेंद्र मोदी की ने दी ये सलाह

आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 मरीजों की संख्या 10 लाख से 20 लाख तक पहुंचने में 21 दिनों का समय लगा जबकि 20 से 30 लाख मरीज होने में 16 और दिन लगे. हालांकि, संक्रमितों की संख्या 30 लाख से 40 लाख तक पहुंचने में मात्र 13 दिनों का समय लगा है. Also Read - Coronavirus: कोविड-19 से लड़ने के उपायों के लिए पीएम मोदी ने सीएम योगी की सराहना में कही ये बात

मंत्रालय के मुताबिक, कोविड-19 मरीजों की संख्या एक लाख तक पहुंचने में 110 दिन लगे थे जबकि संक्रमितों की संख्या एक लाख से 10 लाख तक पहुंचने में 59 दिन लगे. आंकड़ों के मुताबिक कोविड-19 से मरने वालों की दर में और गिरावट आई है और अब यह 1.73 प्रतिशत रह गई है.

आंकड़ों के मुताबिक, इस समय देश में कोविड-19 के 8,46,395 मरीज उपचाराधीन हैं जो कुल संक्रमितों का 21.04 प्रतिशत है. उल्लेखनीय है कि सात अगस्त को भारत में कोविड-19 मरीजों की संख्या 20 लाख के पार चली गई जबकि 23 अगस्त को संक्रमितों की संख्या 30 लाख को पार कर गई.

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के मुताबिक अबतक देश में कुल 4,77,38,491 नमूनों की जांच गई है, जिनमें से 10,59,346 नमूनों की जांच अकेले चार सितंबर को की गई.