नई दिल्ली: भारत ने मंगलवार को खाड़ी देशों से आग्रह किया कि वे कोरोना वायरस से संबंधित पाबंदियों में ढील के बाद काम पर लौटने के इच्छुक भारतीय श्रमिकों और पेशवरों की वापसी में मदद करें. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने लगभग सभी अरब देशों के प्रमुख क्षेत्रीय संगठन खाड़ी सहयोग परिषद (जीसीसी) के साथ डिजिटल माध्यम से हुई बैठक में इस मुद्दे पर बात की. Also Read - 5 स्टार होटल के थे शेफ, नौकरी गई तो सड़क किनारे बेचने लगे बिरयानी, तस्वीरें Viral

जयशंकर ने बैठक में खाड़ी देशों को भारत की ओर से खाद्य सामग्री, दवाओं और जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति जारी रखने का आश्वासन दिया. विदेश मंत्रालय ने कहा कि जयशंकर ने कोविड-19 महामारी के दौरान बड़ी संख्या में भारतीय समुदाय के लोगों का ध्यान रखने के लिये जीसीसी देशों का आभार व्यक्त किया. Also Read - IND vs AUS 2nd ODI Live Streaming: कब-कहां और कैसे देखें भारत vs ऑस्ट्रेलिया दूसरे वनडे की Online स्ट्रीमिंग और Live Telecast

मंत्रालय ने कहा, ‘विदेश मंत्री ने कहा कि बड़ी संख्या में भारतीय श्रमिक और पेशेवर काम पर लौटने के लिये जीसीसी देशों में वापस जाने के इच्छुक हैं. उन्होंने जीसीसी नेतृत्व से यात्रा संबंधी प्रबंध के जरिये उनकी वापसी में मदद करने का आग्रह किया.’ कोरोना वायरस महामारी के चलते बीते कुछ महीनों में हजारों भारतीय नागरिक खाड़ी क्षेत्र से स्वदेश लौट आए थे. Also Read - India Corona Update: 24 घंटे में कोरोना के 41 हजार से ज्यादा मामले, 485 लोगों की मौत, अब साढ़े चार लाख से ज्यादा एक्टिव मामले

विदेश मंत्रालय ने कहा कि इस दौरान नेताओं ने आपसी हितों से संबंधित क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर भी चर्चा की.

(इनपुट भाषा)