नई दिल्ली। भारत और अमेरिका की सेनाएं आपस में सहयोग बढ़ाने के लक्ष्य के साथ 16-29 सितंबर के दौरान उत्तराखंड के चौबटिया में सालाना ‘युद्धाभ्यास’ करेंगी. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. अधिकारियों के अनुसार यह अभ्यास आतंकवाद निरोधक सहयोग बढ़ाने पर केंद्रित होगा. इस साल के अभ्यास की परिसीमा और सघनता इस मायने में खास होगी कि दोनों देशों के बीच रक्षा सहयोग नए आयाम छू रहा है.

400 सैनिक लेंगे हिस्सा

उन्होंने कहा कि दोनों तरफ से करीब 400 सैनिकों के हिस्सा लेने की संभावना है. अमेरिका और भारत के बीच रक्षा और सुरक्षा सहयोग में पिछले दो-चार सालों में नई रफ्तार नजर आई है. गुरुवार को दोनों देशों ने एक ऐतिहासिक समझौते पर दस्तखत किये थे जिससे भारतीय रक्षा बलों को अमेरिका से सैन्य ग्रेड के संचार उपकरण मिल पाएंगे और उसे समय पर कूटबद्ध सूचना भी मिलेगी.

दाऊद इब्राहिम के खिलाफ मिलकर सर्च अभियान चलाएंगे भारत और अमेरिका

नई दिल्ली में भारत-अमेरिका के बीच हुई 2 प्लस 2 वार्ता में रक्षा सहयोग बढ़ाने और आतंकवाद का सख्ती से मुकाबला करने पर सहमति बनी. अमेरिका की ओर से विदेश मंत्री आर पोम्पियो और रक्षा मंत्री जेम्स मैट्टिस ने शिरकत की. गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भारत और अमेरिका के बीच हुई पहली ट्र प्लस टू वार्ता के बारे में जानकारी दी. उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की ओर से अभिवादन भी प्रेषित किया.

प्रधानमंत्री ने ट्र प्लस ट्र वार्ता करने के लिए दोनों अमेरिकी मंत्रियों और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण को बधाई दी. भारत और अमेरिका ने गुरुवार को ट्र प्लस टू वार्ता के पहले दौर की वार्ता की थी. वह द्विपक्षीय संबंधों के विस्तार और रणनीतिक भारत प्रशांत क्षेत्र समेत अपने वैश्विक रणनीतिक सहयोग को बढ़ाने पर केंद्रित थी.