नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि भारत सुभाष चंद्र बोस के साहस और उपनिवेशवाद के खिलाफ लड़ाई में उनके अमिट योगदान का हमेशा आभारी रहेगा.


सुभाष चंद्र बोस को उनकी 123वीं जयंती पर श्रद्धांजलि देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वह भारतीयों की उन्नति और कल्याण के लिए खड़े हुए.


मोदी ने नेताजी के नाम से पहचाने जाने वाले बोस का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘23 जनवरी 1897 को जानकीनाथ बोस ने अपनी डायरी में लिखा, ‘दोपहर में बेटे का जन्म हुआ.’ यही बेटा साहसी स्वतंत्रता सेनानी और विचारक बना जिसने अपना जीवन भारत की स्वतंत्रता के लिए समर्पित कर दिया.’’