नयी दिल्ली: भारत ने बुधवार को कहा कि वह जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण के लिए मलेशिया से बातचीत करना जारी रखेगा. भारत ने यह बयान ऐसे समय दिया जब दो दिन पहले मलेशिया के प्रधानमंत्री ने कहा था कि उनके देश को नाइक का प्रत्यर्पण नहीं करने का अधिकार है क्योंकि भगोड़े उपदेशक ने दावा किया कि उसके खिलाफ भारत में निष्पक्ष सुनवाई नहीं होगी.

 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारतीय न्यायिक प्रणाली की निष्पक्षता पर कभी भी सवाल खड़े नहीं हुए हैं. कुमार ने कहा कि भारत की कई देशों के साथ प्रत्यर्पण की व्यवस्था है. अतीत में, भारत में सफल प्रत्यर्पण के कई मामले हैं. भारतीय न्यायिक प्रणाली की निष्पक्षता कभी भी सवालों के घेरे में नहीं रही है. उन्होंने मलेशिया से नाइक के प्रत्यर्पण की स्थिति के बारे में पूछे जाने पर कहा कि भारत ने जाकिर नाइक के प्रत्यर्पण के लिए औपचारिक आग्रह किया है. हम मलेशिया के साथ इस मामले में आगे भी बातचीत करते रहेंगे.

गौरतलब है कि 53 साल का कट्टर टीवी उपदेशक नाइक 2016 में भारत छोड़कर मलेशिया चला गया था और कहा जा रहा है कि उसे मलेशिया ने स्थायी निवासी का दर्जा दिया है.