नई दिल्ली. वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को कहा कि भारत अगले साल ब्रिटेन को पछ़ाड़कर दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है. उन्होंने यहां कहा, इस साल आकार के लिहाज से हमने फ्रांस को पीछे छोड़ा है. अगले साल हम ब्रिटेन को पीछ़े छोड़ देंगे. इस तरह हम दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएंगे. Also Read - Covid-19: UN ने कहा- विश्व अर्थव्यवस्था मंदी में चली जाएगी, भारत, चीन हो सकते हैं अपवाद

वित्त मंत्री ने कहा कि दुनिया की अन्य अर्थव्यवस्थाओं की वृद्धि की रफ्तार धीमी है. उन्होंने कहा कि भारत में अगले 10 से 20 साल में दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में आने की क्षमता है. Also Read - कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय का बड़ा बयान, कहा- हम अभी लोकल ट्रांसमिशन के चरण में हैं

बता दें कि इसी साल बना है छठवीं बड़ी अर्थव्यवस्था
मोदी सरकार के रिफॉर्म्स का असर दिख रहा है. रिफॉर्म्स के दम पर ही भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ने वाली इकोनॉमी में शुमार है. इस बीच मोदी सरकार के लिए अच्छी खबर है. वर्ल्ड बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक, भारत अब दुनिया की छठी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है. उसने इस मामले में फ्रांस को पीछे छोड़कर यह मुकाम हासिल किया है. वर्ल्ड बैंक के मुताबिक, भारत की GDP (सकल घरेलू उत्पाद) पिछले साल के आखिर में 2.597 ट्रिलियन डॉलर (178 लाख करोड़ रुपए) रही, जबकि फ्रांस की 2.582 ट्रिलियन डॉलर (177 लाख करोड़ रुपए) रही. कई तिमाहियों की मंदी के बाद भारत की अर्थव्यवस्था जुलाई 2017 से फिर से मजबूत होने लगी. Also Read - Coronavirus से देश में अबतक 29 मौतें, कुल संक्रमितों की संख्‍या 1,071 हुई: Health Ministry

2017 जुलाई से मजबूत हुई अर्थव्यवस्था
आपको बता दें कि भारत की आबादी इस समय 1.34 अरब यानी 134 करोड़ है और यह दुनिया का सबसे आबादी वाला मुल्क बनने की दिशा में अग्रसर है. उधर, फ्रांस की आबादी 6.7 करोड़ है. वर्ल्ड बैंक के आंकड़ों के मुताबिक, फ्रांस की प्रति व्यक्ति जीडीपी भारत से 20 गुना ज्यादा है.