नई दिल्ली: जम्मू एयरफोर्स स्टेशन पर रविवार के दिन ड्रोन से किए गए धमाके के मामले में भारतीय वायु सेना के अधिकारी व रक्षा अधिकारी रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को डिजिटल प्रजेंटेशन प्रस्तुत करेंगे. मंगलवार के दिन रक्षा सूत्रों द्वारा यह जानकारी दी गई. वहीं इस मामले की जांच को NIA को सौंप दिया गया है. बता दें कि इस मामले में आगे की जांच के लिए एंटी टेरर यूनिट स्पेशल सेल की एक टीम जम्मू के लिए रवाना हो चुकी है.Also Read - सेना के तीनों अंगों के 'थियेटराइजेशन' प्लान में हुई प्रगति, खतरों से निपटने में सक्षम होगी: IAF चीफ

बता दें कि इस टीम को ड्रोन हमले के तरीके को समझने के लिए दिल्ली पुलिस के बड़े अफसरों ने भेजा है. क्योंकि दिल्ली पर हमेशा आतंकी हमले का अलर्ट रहता है. सोमवार के दिन जम्मू मिलिट्री स्टेशन के करीब कई संदिग्ध ड्रोन दिखे थे. इस बाबत अलर्ट जारी कर दिया गया है. हालांकि बाद में ये ड्रोन गायब हो गए थे. Also Read - 'एक इंच जमीन कब्जा नहीं करने देंगे', चीन-पाकिस्तान के मुद्दे पर सख्त लहजे में बोले राजनाथ सिंह

सोमवार की रात की घटना के बाद क्षेभत्र के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी विजय कुमार ने बताया कि इस घटना ने सुरक्षा एजेंसियों के लिए नए खतरे को पैदा कर दिया है. यह एक बड़ी चुनौती है. इसे तकनीकी रूप से नियंत्रित किया जा सकता है. बता दें कि इससे पूर्व जम्मू में वायुसेना स्टेशम में रविवार सुबह विस्फोटक से लदे 2 ड्रोन गिरे थे, जिस कारण धमाका हुआ था. Also Read - 'ये उभरता हुआ नया भारत, अंतरराष्ट्रीय मंच पर सुनी जाती है बात', ZEE सम्मेलन में बोले राजनाथ सिंह