फ्रांस और भारत के बीच बुधवार को जोधपुर के नजदीक शुरू हो रहे 5 दिवसीय हवाई युद्धाभ्यास में भारतीय वायुसेना (Indian Air Force) के अन्य विमानों के साथ-साथ राफेल, सुखोई और मिराज-200 लड़ाकू विमान भी शामिल होंगे. भारतीय वायुसेना ने बताया कि ‘एक्स-डेजर्ट नाइट 21’ नाम से होने वाले युद्धाभ्यास में आईएल-78 हवा में ईंधन भरने वाले विमान और हवाई चेतावनी एवं नियंत्रण प्रणाली (एडब्ल्यूएसीएस) को भी शामिल किया जाएगा.Also Read - राष्ट्रपति ने 13 शौर्य चक्र पुरस्कारों का वितरण किया, 6 को मरणोपरांत सम्‍मानित किया गया

वहीं, फ्रांस की ओर से राफेल लड़ाकू विमान के साथ एयरबस ए-330 बहु उद्देश्यीय टैंकर परिवहन विमान (एमआरटीटी), ए-400 एम रणनीतिक परिवहन विमान शामिल होगा. इसके साथ ही फ्रांसीसी सैन्य बल के 175 सैनिक भी इस युद्धाभ्यास में शामिल होंगे. Also Read - वायुसेना ने सुखोई लड़ाकू विमान से ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का किया सफल परीक्षण

यह हवाई सैन्य अभ्यास ऐसे समय में हो रहा है, जब भारतीय वायुसेना ने पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध के मद्देनजर अपने सभी अग्रिम हवाई ठिकानों को किसी भी वक्त परिचालन के लिए तैयार रखा है. भारतीय वायुसेना (IAF) ने एक बयान में कहा, ‘यह युद्धाभ्यास खास है, क्योंकि इसमें दोनों पक्षों से राफेल विमान हिस्सा ले रहे हैं और यह दोनों देशों की वायुसेना के बीच बढ़ते संबंध का संकेत है.’ Also Read - ब्रह्मोस मिसाइल की लाइव फायरिंग, एयरफोर्स के फाइटर एसयू 30 एमकेआई ने लक्ष्‍य पर सीधा निशाना साधा

(इनपुट: भाषा)