पठानकोट: भारतीय वायुसेना (आईएएफ) की लड़ाकू क्षमता बढ़ाने के लिए 8 अमेरिका निर्मित अपाचे एएच-64ई लड़ाकू हेलि‍कॉप्टर को मंगलवार को आईएएफ में शामिल किया जाएगा. ‘अपाचे एएच-64ई’ दुनिया के सबसे उन्नत बहु-भूमिका वाले लड़ाकू हेलि‍कॉप्टर है और अमेरिकी सेना इसका इस्तेमाल करती है. भारतीय वायुसेना में इस हेलिकॉप्‍टर के शामिल होने से उसकी मारक क्षमता बढ़ जाएगी.

एयर चीफ मार्शल बी. एस. धनोआ पठानकोट एयर फोर्स स्टेशन में आयोजित होने वाले इस समारोह के मुख्य अतिथि होंगे. आईएएफ के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, आठ अपाचे लड़ाकू हेलि‍कॉप्टर आईएएफ में शामिल होने जा रहे हैं, जो बल की लड़ाकू क्षमता को बढ़ाएंगे.

आईएएफ ने अपाचे हेलि‍कॉप्टर के लिए अमेरिकी सरकार और बोइंग लिमिटेड के साथ सितंबर 2015 में कई अरब डॉलर का अनुबंध किया था. इसके तहत बोइंग ने 27 जुलाई को 22 हेलीकॉप्टर में से पहले चार हेलि‍कॉप्टर दिए गए थे.

कई अरब डॉलर का अनुबंध होने के करीब चार वर्ष बाद ‘हिंडन एयर बेस’में भारतीय वायुसेना को अपाचे हेलि‍कॉप्टरों के पहले बैच की डिलीवरी की गई थी.