वाघा/अटारी/नई दिल्ली. विंग कमांडर अभिनंदन शुक्रवार रात को पाकिस्तान से भारत लौट आए. उन्हें उस समय पाकिस्तान में पकड़ लिया गया था जब हवाई संघर्ष के दौरान उनका मिग 21 विमान क्रैश हो गया था. एयरवाइस मार्शल आरजीके कपूर ने कहा कि वायुसेना के पायलट अभिनंदन वर्धमान को अभी-अभी हमें सौंपा गया है. उन्होंने कहा कि हम उन्हें वापस पाकर खुश हैं. उन्होंने कहा कि पायलट को विस्तृत चिकित्सा परीक्षण के लिए ले जाया जाएगा क्योंकि उन्हें काफी तनाव के क्षणों से गुजरना पड़ा. विदेश मंत्रालय ने कहा कि विंग कमांडर अभिनंदन को वाघा अटारी बार्डर पर भारतीय अधिकारियों को सौंप दिया गया.

पाकिस्तान से लौटे विंग कमांडर अभिनंदन, देश ने किया स्वागत

गौरतलब है कि पकड़े जाने के बाद पाकिस्तान में 60 घंटे रहने के बाद भारतीय पायलट अभिनंदन बर्द्धमान भारत आए. पाकिस्तानी विमानों द्वारा भारतीय वायु सीमा के उल्लंघन के दौरान अदम्य वीरता का प्रदर्शन करने वाले विंग कमांडर अभिनंदन की स्वदेश वापसी पर पूरे देश की निगाहें वाघा बॉर्डर पर दिन भर लगी रहीं. वायु सेना अधिकारी अभिनंदन वर्द्धमान के पाकिस्तान की हिरासत से मुक्त होकर लौटने के बीच भारी संख्या में मीडियाकर्मियों की नजर इस पर थी और पूरे देश के लोग टीवी सेट पर टकटकी लगाए हुए थे. पहले यह खबर आ रही थी कि विंग कमांडर अभिनंदन को दोपहर बाद रिहा किया जाएगा, लेकिन दिन ढलने और रात आने के साथ लोगों का इंतजार बढ़ता गया. अभिनंदन को बुधवार को पाकिस्तान ने पकड़ लिया था.

बेटे को लेने प्लेन से दिल्ली आ रहे थे विंग कमांडर अभिनंदन के माता-पिता, लोगों ने कुछ यूं दिया सम्मान

बेटे को लेने प्लेन से दिल्ली आ रहे थे विंग कमांडर अभिनंदन के माता-पिता, लोगों ने कुछ यूं दिया सम्मान

रात ढलने के साथ लोग सांसें थाम कर पायलट अभिनंदन की एक झलक का इंतजार करते रहे लेकिन समय के साथ उनकी प्रतीक्षा बढ़ती गई. गौरतलब है कि भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तानी सीमा में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को निशाना बनाया. उसके बाद पाकिस्तानी वायु सेना की ओर से भारत की वायु सीमा का उल्लंघन किया गया और इस दौरान हुए हवाई संघर्ष में पाकिस्तान का एक एफ-16 विमान गिरा दिया गया एवं भारत का मिग 21 दुर्घटनाग्रस्त हो गया. इस संघर्ष के परिणामस्वरूप विंग कमांडर अभिनंदन का पैराशूट सीमा पर आगे बढ़ गया और उन्हें पाकिस्तान ने पकड़ लिया. इसके बाद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी संसद में कहा था कि वह शांति के संदेश के तौर पर भारतीय पायलट को रिहा कर रहे हैं.

(इनपुट – एजेंसी)